आजीविका उद्यम विकास कार्यक्रम अंतर्गत 150 महिलाओं को  मशरूम की खेती करने का दिया प्रशिक्षण

Scn news india

सुनील गोंडाने के साथ रामक्रैश हनोते की रिपोर्ट

आजीविका उद्यम विकास कार्यक्रम अंतर्गत  होशंगाबाद की स्वयं सेवी संस्था  युक्ति समाज सेवा सोसाइटी द्वारा  घोड़ाडोंगरी विकासखंड की ग्राम पंचायत विक्रमपुर में  ग्रामीण महिलाओ के स्वरोजगार स्थापना हेतु ग्राम चलाये जा रहे प्रशिक्षण सत्र का,ग्राम मोरडोंगरी में समापन हुआ। इस दौरान ग्राम पंचायत विक्रमपुर सरपंच श्यामू उइके,  ग्राम पंचायत धसेड़ सरपंच शांति उइके ,पूर्व सरपंच भोला यादव ,किरण तायड़े  एवं प्रशिक्षक रामकिशोर कहार मौजूद रहे।

सरपंच श्यामू उइके ने बताया की नाबाद की योजना अंतर्गत 150 महिलाओं को  मशरूम की खेती करने का प्रशिक्षण दिया गया। जिसमे ग्राम घसेड ,घोघरी ,विक्रमपुर , खाखरा ढाना ,मोरडोंगरी  में 30 -30  महिलाओं को प्रशिक्षण दिया गया। वही प्रशिक्षक रामकिशोर कहार ने बताया की महिलाये मशरूम की खेती को जीविकापार्जन का साधन बना सकती है। और कम लागत में अच्छा मुनाफा कमा सकती है। जो कम जगह में भी संभव है।  चाहे तो बैंक से भी सहायता प्राप्त कर सकती है।