हिंदी में ज्ञान का प्रकाश विषय पर संगोष्ठी का आयोजन

Scn news india

 

मनीष मालवीय 
नर्मदापुरम इटारसी // भारत सरकार द्वारा हिंदी भाषा में मेडिकल के पाठ्यक्रम का शुभारांभ भोपाल में किया जा रहा है। इस कार्यक्रम के परिपेक्ष में एक दिवस पूर्व आज शासकीय कन्या महाविद्यालय इटारसी में हिन्‍दी विमर्श कार्यक्रम के अंतर्गत हिंदी में ज्ञान का प्रकाश विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में वरिष्ठ हिंदी कवि श्री बृज किशोर पटेल, वरिष्ठ साहित्यकार श्री राम किशोर नाविक एवं साहित्यकार व समीक्षक श्री चंद्रकांत अग्रवाल वक्ता के रूप में शामिल हुए। कार्यक्रम का प्रारंभ मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित कर, माल्यार्पण एवं पूजन से कि़ गया। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. आर. एस. मेहरा ने कार्यक्रम की रूपरेखा बताते हुए कहा कि अब मेडिकल की पढ़ाई हिंदी में संभव है। इसका उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों एवं हिंदी माध्‍यम में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं के लिए मेडिकल की पढ़ाई आसान बनाना है। मुख्य वक्ता श्री ब्रज किशोर पटेल ने बताया कि अब हिंदी में मेडिकल की पढ़ाई होने से भाषा अज्ञानता के कारण जो रुकावटें थी।

वह दूर होंगी अब विद्यार्थी थककर नहीं, बल्कि आनंद के साथ अध्ययन कर पाएगा। श्री राम किशोर नाविक ने व्यक्तिगत अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि पूर्व में छात्र-छात्राओं को भाषा के कारण चिकित्सीय अध्ययन में जो परेशानियां एवं रुकावटें आई हैं, वह दूर होंगी एवं इसका लाभ समाज को भी मिलेगा। श्री चंद्रकांत अग्रवाल ने कहा कि भाषा को लेकर जो असुरक्षा व भय है, उससे अब निकाल देना चाहिए अब खिड़कियां खुल चुकी हैं जिससे केवल ज्ञान ही ज्ञान का प्रकाश आना है। कार्यक्रम का संचालन कर रहे डॉ. शिरीष परसाई ने कहा कि हिंदी भाषा में अध्ययन की सुविधा होने पर छात्र-छात्राओं में पुस्तकीय ज्ञान के साथ-साथ विषय संबंधी नए विचार निर्मित होंगे जो अनुसंधान एवं शोध के लिए मील का पत्थर साबित होंगे। कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शित करते हुए डॉ. संजय आर्य ने कहा कि तकनीकी शब्दों को बिना छेड़े, हिंदी में मेडिकल की पढ़ाई होने से विद्यार्थी ज्ञान के स्तर पर विश्व पटल पर भी सफल होंगे। उल्लेखनीय है कि महाविद्यालय से अनेक छात्राएं दिनांक 16 अक्टूबर 2022 को भोपाल में आयोजित हिंदी में मेडिकल की पढ़ाई से संबंधित सेमिनार में शामिल होंगी। कार्यक्रम में महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. हरप्रीत रंधावा, श्रीमती मंजरी अवस्थी, श्री अमित कुमार, श्री रविंद्र चौरसिया, श्री स्नेहांशु सिंह, श्रीमती पूनम साहू, डॉ. नेहा सिकरवार, कु प्रिया कलोसिया, कु रश्मि मेहरा, कु क्षमा वर्मा, तरुणा तिवारी, एवं अनेक छात्राएं उपस्थित रही।