कटनी जिला के बरही से अमित विश्वकर्मा इंटरनेशनल माउंट एवरेस्ट बेस कैंप में फतह किया

Scn news india

संवाददाता सुनील यादव 

मध्यप्रदेश के कटनी जिला से अमित विश्वकर्मा ने एक बार फिर इंटरनेशनल दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट बेस कैंप नेपाल फतह किया ।माउंट एवरेस्ट बेस कैंप में सामिल हुए बरही के आर. सी हायर सेकंडरी स्कूल के अमित विश्वकर्मा जो कटनी जिला से पहले भी पर्वतारोही संस्था से बड़े माउंटेन पर कई बार देश का तिरंगा फहराया और कटनी जिला से विदेश पर भी तिरंगा फहराया। इस बार अमित विश्वकर्मा ने इंटरनेशनल की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट बेस कैंप पर नेपाल में तिरंगा फहरा कर कटनी सहित मध्यप्रदेश का नाम रोशन किया ।

दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट बेस कैंप जिसकी हाइट 17598फीट उसके साथ ही नेपाल की बड़ी चोटी कालापट्ठर ट्रैक जिसकी हाइट 18192फीट और गोक्यों पीक जिसकी हाइट 17929फीट को भी फतह किया । इन 12दिनों में अमित विश्वकर्मा ने 33चोटी माउंटेन को पार करके माउंट एवरेस्ट बेस कैंप फतह किया उसके बाद नेपाल की जानी मानी कालापट्ठर ट्रैक और गोक्यो पीक भी फतह की । अमित के इस कदम पर उन्हे मां रश्मि विश्वकर्मा और पिता मन्नू लाल विश्वकर्मा जी ने उन्हे हर चीज में पूरी सहायता की ।

अमित को बोहोत दिक्कत आई थी माउंट एवरेस्ट बेस कैंप पर सामिल होने के लिए पैसे की दिक्कत बोहोत आई जिसके कारण उनका माउंट एवरेस्ट फतह करने जाना मुस्किल था पर उनके माता और पिता ने उन्हे इन होशलो को कैसे भी करके पूरा किया । अमित कुमार पहले भी यूनान पीक 20118फीट , फ्रेंशिप पीक 17952फीट , परवतारोही संस्था से मान्यता प्राप्त कोर्स भी किए और साथ ही 15अगस्त 2021 को यूनान पीक फतह भी किया था । कटनी जिला से 16सितंबर को नेपाल रवाना हुए माउंट एवरेस्ट बेस कैंप में सामिल होने जिसके साथ ही 26सितंबर को माउंट एवरेस्ट बेस कैंप पर फतह किया और कालापट्ठर ट्रैक भी फतह किया । अमित और उनकी टीम ने 28सितंबर को गोक्यो पीक को भी फतह किया था।