हवाईजहाज और फार्चूनर से धर्म नहीं बचेगा -पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर

Scn news india

शाहनगर से प्रियप्रकाश तिवारी की रिपोर्ट

कलश यात्रा के साथ प्रारंभ हुई तीन दिवसीय वनवासी श्री राम कथा

पन्ना जिले पवई विधान सभा अन्तर्गत आने वाले आदिवासी बाहुल्य पहाड़ी एवं प्राकृतिक क्षेत्र कल्दा में तीन दिवसीय वनवासी राम कथा का प्रारंभ हो गया सर्वप्रथम 108 कलश के साथ ग्राम में यात्रा निकाली गई तत्पश्चात बागेश्वर धाम सरकार के पीठाधीश्वर राष्ट्र संत पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री जी के द्वारा वनवासी श्री राम कथा के पहले दिन की भगवान राम और शबुरी की कथा का श्रोताओं को रसपान कराया महाराज जी ने कहा कि आगे भी देश और प्रदेश के वनवासी क्षेत्रों में कथा का आयोजन किया जाएगा जिसकी पूरी जिम्मेदारी बागेश्वर धाम समिति की होगी वनवासियों से किसी प्रकार का कोई सहयोग राशि नहीं लिया जाएगा कथा में कल्दा के आसपास के 62 ग्राम ही नहीं बल्कि जिले और दूसरे जिलों से भी श्रृद्धालु कथा सुनने के लिए पहुंचे इस दौरान प्रेस वार्ता में महराज श्री ने कहा की राम जी वन गए इसलिए राम बन गए उन्होने कहा की वनवासियों के पास साधन नहीं पर साधना है,साथ ही कहा की वनवासियों को शिक्षित करने उन्हें मुख्य धारा में जोड़ने के सनातन धर्म के लिए यह नवाचार है|

पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर