चुनाव रद्द किए जाने को लेकर न्यायालय की शरण जायेगी आप – अजय सोनी

Scn news india

ब्यूरो रिपोर्ट

आम आदमी पार्टी जिला बैतूल सारणी नगर पालिका परिषद की दोष पूर्ण मतदाता सूची और अन्य महत्वपूर्ण साक्षयों के साथ सारणी नगर पालिका के चुनाव रद्द किए जाने को लेकर लेगी न्यायालय की शरण।

आम आदमी पार्टी ने पहली बार नगर पालिका परिषद सारणी में अपने 31 पार्षद उम्मीदवार उतारे थे चुनाव के वर्तमान परिणाम को देखते हुए जब जमीनी स्तर पर जिला अध्यक्ष अजय सोनी और उनके कई जिम्मेदार साथियों ने
वार्डो का जमीनी सर्वे किया और उसके उपरांत जब स्थानीय जिम्मेदार उप निर्वाचन विभाग सारणी व वार्ड के कुछ बीएलओ से वर्तमान मतदाता सूची पर चर्चा की तो आश्चर्य जनक जानकारी सामने आई हैं की निर्वाचन आयोग द्वारा जो सारणी नगर पालिका क्षेत्र में 69 हजार से ज्यादा मतदाता शासकीय कागजों में बताए गए हैं वास्तविकता में इतने मतदाता सारणी नगर पालिका क्षेत्र में मौजूद ही नही है जिम्मेदार लोगों का कहना हैं कि विगत वर्षो में कई बार निर्वाचन आयोग के द्वारा मतदाताओं का जमीनी सर्वे करने का कार्य बीएलओ को दिया जाता है और उनके द्वारा सर्व कर उचित रिपोर्ट बनाकर जिम्मेदार विभाग को उनके द्वारा दे दी जाती हैं और ये निर्वाचन आयोग का खेल एक लंबे अरसे से चल रहा हैं बार बार हजारों मतदाताओं का सर्व करवाया जाता हैं और मात्र कुछ ही लोगों के नाम काटकर अपनी जिम्मेदारियों से इत्तिश्री कर लिया जाता हैं जिससे लगातार चुनाव में मतदान प्रभावित होते आ रहा हैं अपात्र मतदाताओं से मतदान करने की प्रथा लंबे अरसे से सारणी नगर पालिका में कराई जा रही है एक ही मतदाता लगे हुए दो वार्डो में मतदान करते हुए नजर आए जिनके पुख्ता प्रमाण आम आदमी पार्टी के पास मौजूद हैं वर्तमान में 69 हजार से ज्यादा जो मतदाता बताकर सारणी में चुनाव कराए गए हैं वास्तव में उतने मतदाता जमीनी स्तर पर मौजूद ही नहीं हैं जिनके नाम वास्तव में सूची से हटाए जाने थे उनके नाम बकायदा सूची में आज भी शामिल हैं और वास्तविक मतदाता जो वार्ड में निवासरत हैं उनके नाम को सुनियोजित तरीके से हटाने का कार्य निर्वाचन आयोग के अधिकारी और कुछ राजनितिक दलों के द्वारा किया गया है ये एक दंडनीय अपराध हैं कोई भी मतदाता एक ही शहर में रहकर दो स्थानों में मतदान नही कर सकता हैं न अन्य शहर अन्य जिलें अन्य प्रदेश से आकर कोई भी अतिरिक्त मतदान नही कर सकता हैं नियमानुसार उन समस्त मतदाताओं को अपना उस क्षेत्र से नामावली से नाम हटाने के लिए फॉर्म नंबर 7 जमा करना होता है लेकिन विगत कई वर्षों से सारणी नगर पालिका में फर्जी मतदान कराने को होड़ लगी हुई हैं आम आदमी पार्टी ने प्रथम बार ही नगर पालिका का चुनाव लडा और मतदान की वास्तविक का जमीनी स्तर पर सर्वे कर पूर्णतः अनियमितता से भरे मतदान को और चुनाव को शून्य कराने और जिम्मेदार विभाग के अधिकारियों पर उचित कार्यवाही के लिए अब न्यायलय की शरण में पुख्ता प्रमाण के साथ जाने की तैयारी कर चूकी हैं।

सारणी नगर पालिका में जो निर्वाचन आयोग के द्वारा मतदाता सूची में आंकड़े दर्शाए गए थे वो पूर्णतः जमीनी स्तर पर फर्जी हैं जब बीएलओ लगातार कई वर्षो से मतदाताओं के नाम हटाने के लिए निर्वाचन आयोग की ओर रिपोर्ट प्रस्तुत करते आ रहे हैं तो ऐसी क्या मजबूरी है की अनाधिकृत अपात्र मतदाताओं के नाम नही काटे गए हैं जो मतदाता वर्षो पहले शहर छोड़ चुके हैं वो सिर्फ हर 5 साल में बीजेपी कांग्रेस के पक्ष में मतदान करते आ रहे हैं और जहां वो निवासरत हैं वहां भी मतदान पंचायतों और नगर पालिका,नगर निगम,नगर परिषद मतदान कर रहे हैं ये बेहद गंभीर विषय हैं इस तरह की दोष पूर्ण मतदाता सूची से चुनाव कराना भी विधि के अनुसार एक अपराध हैं अन्य प्रत्याशियों और मतदाताओं के लिए जो मतदाता थे उनके नाम हटाए गए जो जिंदा थे उन्हें मृतक बना दिया गया कई मतदाताओं को मतदान करने से वंचित कर दिया गया ये त्रुटि कोई छोटी त्रुटि नही हैं एक मतदाता को उसके मतदान से रोकना मतलब एक मजबूत लोकतंत्र के निर्माण को रोकने में बाधा उत्पन्न करने के बराबर है इन गंभीर विषयों पर आम आदमी पार्टी निश्चित तौर पर उचित साक्ष्यों को लेकर जिन वार्डो में घटना घटित हुई हैं वहां के चुनाव रद्द कराए जाने और मतदाता सूची को भौतिक सत्यापन कर सुधार किए जाने के उपरांत ही उन समस्त वार्डो में आगामी समय में निर्वाचन की प्रक्रिया करने की न्यायालय से अपील की जाएगी।