हिंदी में मेडिकल की पढ़ाई शुरू करना म.प्र. के लिये बड़ी उपलब्धि-मंत्री श्री सारंग

Scn news india

मनोहर

मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है जो हिंदी में भी मेडिकल की पढ़ाई की शुरूआत करने जा रहा है। भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में 16 अक्टूबर रविवार को होने वाले भव्य कार्यक्रम में केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह एमबीबीएस प्रथम वर्ष की हिंदी पुस्तकों का विमोचन करेंगे।

इस ऐतिहासिक कार्यक्रम को भव्य बनाने के लिये लाल परेड मैदान पर तैयारियाँ जोरों पर है। बुधवार को चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास कैलाश सारंग ने कार्यक्रम स्थल पर पहुँच कर कार्य की प्रगति का निरीक्षण किया और वरिष्ठ अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

हिंदी में एमबीबीएस से प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री का सपना हो रहा साकार

मंत्री श्री सारंग ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का ‘हिंदी में मेडिकल की पढ़ाई’ प्रारंभ करने का सपना साकार होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश में पहली बार मध्यप्रदेश में हिंदी में भी मेडिकल की पढ़ाई का शुभारंभ होने से विगत 6 माह में पुस्तकों के हिंदी रूपांतरण के लिये चिकित्सा शिक्षा विभाग का परिश्रम फलीभूत होने जा रहा है।

मंत्री श्री सारंग ने बताया कि एमबीबीएस प्रथम वर्ष की तीन पुस्तकें एनाटॉमी, फिजियोलॉजी एवं बायो केमिस्ट्री हिन्दी में बन कर तैयार हैं। रविवार 16 अक्टूबर को लाल परेड ग्राउंड पर दोपहर 12 बजे केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री शाह द्वारा तीनों हिंदी पुस्तकों का विमोचन किया जायेगा।

हिन्दी भाषी राज्यों से आ रहे कॉल

मंत्री श्री सारंग ने बताया कि मेडिकल की पढ़ाई हिंदी में शुरू होने से पूरे प्रदेश में उत्साह का माहौल है। वहीं अन्य हिंदी भाषी राज्यों में भी मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा विभाग की इस पहल को सराहा जा रहा है। इस अकल्पनीय कार्य की सफलता के लिये देश के अन्य हिंदी भाषी राज्यों से भी उन्हें लगातार कॉल आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि हिंदी माध्यम से शिक्षित छात्र कड़ी मेहनत कर नीट की परीक्षा में तो उत्तीर्ण हो जाते हैं। एमबीबीएस में अंग्रेजी भाषा होने से उन्हें कई कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। वहीं अब हिंदी में पाठ्यक्रम होने से चिकित्सा विद्यार्थियों की समझ एवं ज्ञानार्जन में इजाफा होगा।

निरीक्षण में महापौर श्रीमती मालती राय, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा श्री मोहम्‍मद सुलेमान, आयुक्त जनसंपर्क श्री राघवेन्द्र सिंह, आयुक्त चिकित्सा शिक्षा डॉ. संजय गोयल, कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया, गांधी चिकित्सा महाविद्यालय के डीन डॉ. अरविंद राय, हमीदिया अस्पताल अधीक्षक डॉ. आशीष गोहिया सहित विभागीय अधिकारी भी मौजूद रहे।