अब हिंदी में होगी मेडिकल की पढ़ाई,16 अक्टूबर को पुस्तकों का विमोचन

Scn news india

मनोहर

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह 16 अक्टूबर को भोपाल के लाल परेड ग्राउंड पर हिंदी में एमबीबीएस प्रथम वर्ष की पुस्तकों का विमोचन कर हिंदी में मेडिकल की पढ़ाई का शुभारंभ करेंगे। विमोचन कार्यक्रम को लेकर भव्य तैयारियाँ की जा रही हैं। रविवार को चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास कैलाश सारंग ने लाल परेड ग्राउंड पर कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

मध्यप्रदेश सरकार की देश को बड़ी सौगात है “हिंदी में मेडिकल की पढ़ाई”

मंत्री श्री सारंग ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव पर ‘हिंदी में मेडिकल की पढ़ाई’ मध्यप्रदेश सरकार की ओर से देश को बड़ी सौगात है। उन्होंने कहा कि यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के आह्वान को जनप्रिय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने शिरोधार्य करते हुए हिंदी में एमबीबीएस पाठ्यक्रम शुरू करने का निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि यह प्रसन्नता की बात है कि चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा निर्धारित समय-सीमा में एमबीबीएस के हिंदी पाठ्यक्रम को तैयार करने का कार्य पूर्ण किया गया।

मंत्री श्री सारंग ने बताया कि 16 अक्टूबर को केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री शाह के मुख्य आतिथ्य में भोपाल के लाल परेड गाउंड पर भव्य कार्यक्रम में एमबीबीएस प्रथम वर्ष के हिंदी पाठ्यक्रम की पुस्तकों का विमोचन किया जायेगा। यह दिन चिकित्सा शिक्षा विभाग, मध्यप्रदेश, देश एवं हिंदी के लिये बेहद महत्वपूर्ण है। कार्यक्रम में हजारों की संख्या में पूरे प्रदेश के चिकित्सा महाविद्यालयों के छात्र शामिल होंगे।

इसी सत्र से शुरू होगी हिंदी में एमबीबीएस की पढ़ाई

मंत्री श्री सारंग ने बताया कि मध्यप्रदेश, देश का पहला राज्य होगा जो हिंदी में मेडिकल की पढ़ाई का शुभारंभ करेगा। हिन्दी में एमबीबीएस पाठ्यक्रम का पायलट प्रोजेक्ट गांधी चिकित्सा महाविद्यालय से शुरू होगा। मध्यप्रदेश के सभी 13 शासकीय चिकित्सा महाविद्यालयों में वर्तमान सत्र से ही एमबीबीएस प्रथम वर्ष में एनाटॉमी, फिजियोलॉजी एवं बॉयो-केमिस्ट्री की हिंदी में भी पढ़ाई कराई जाएगी। वहीं अगले सत्र में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष में भी इसे लागू किया जाएगा।

हिन्दी माध्यम के छात्रों को मिलेगी सुविधा

मंत्री श्री सारंग ने यह भी स्पष्ट किया कि हिंदी में पढ़ाई का मतलब समानांतर रूप से हिंदी माध्यम से पढ़े छात्रों को सहायता के तौर पर यह व्यवस्था की जा रही है। अंग्रेजी के साथ हिंदी की किताबें भी उपलब्ध कराई जायेगी। किताबों के हिंदी रूपांतरण के लिये हिंदी प्रकोष्ठ ‘मंदार’ का विधिवत गठन कर सुव्यवस्थित पाठ्यक्रम तैयार किया गया है। इस टॉस्क फोर्स में चिकित्सा क्षेत्र के विशेषज्ञ शामिल हैं।

चिकित्सा शिक्षा के नवाचारों पर आधारित प्रदर्शनी भी लगेगी

लाल परेड मैदान में कार्यक्रम स्थल पर 15 अक्टूबर को मध्यप्रदेश चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा हिंदी में एमबीबीएस, नॉलेज शेयरिंग मिशन, चिकित्सा छात्र बीमा योजना, एमबीबीएस फाउंडेशन कोर्स में मूल्य आधारित चिकित्सा शिक्षा का समावेश, ईज़ ऑफ हेल्थ सर्विसेज, मेडिकल इन्क्यूबेशन सेंटर समेत विभिन्न नवाचार पर आधारित प्रदर्शनी भी लगाई जायेगी।

निरीक्षण के दौरान महापौर श्रीमती मालती राय, आयुक्त चिकित्सा शिक्षा डॉ. संजय गोयल, संचालक चिकित्सा शिक्षा डॉ. जितेन शुक्ला, संभागायुक्त श्री गुलशन बामरा, डीन गांधी चिकित्सा महाविद्यालय डॉ. अरविंद राय, हमीदिया अस्पताल अधीक्षक डॉ. आशीष गोहिया सहित विभागीय अधिकारी भी उपस्थित थे।