रेलवे स्टेशन पर दंपत्ती से लूट का मामला,6 घंटों में ही लुटेरे आरपीएफ की पकड़ में

Scn news india

♦️दंपत्ति पर चाकू से हमला कर रुपए और मोबाइल लूटे

♦️6 घंटों में ही लुटेरे आरपीएफ की पकड़ में आए

♦️आरपीएफ ने लूटी रकम और मोबाइल किया जप्त

♦️परासिया रेलवे स्टेशन का मामला

💠परासिया/जुन्नारदेव–
शनिवार तड़के को ट्रेन का इंतजार कर रही दंपत्ति पर धारदार चाकू से हमला कर उनके पास से पर्स में रखे हुए रुपए 4000 की नगद धनराशि व मोबाइल को लूटने की सनसनीखेज घटना घटित हुई। यह घटना परासिया रेलवे स्टेशन में शनिवार के तड़के 3 बजे के दरमियान हुई है। प्रातः काल 3 बजे सुनसान पड़े रेलवे स्टेशन पर पेंचवेली ट्रेन का इंतजार कर रही दंपत्ति पर चाकू से हमला करने के बाद यह दो लुटेरे वहां से फरार हो गए। नगद धनराशि और मोबाइल सहित पर्स के लुट जाने के बाद लहूलुहान दरबाई दंपत्ति रेलवे स्टेशन परासिया में स्थित आरपीएफ चौकी पर तत्काल पहुंची। आरपीएफ अमले के द्वारा घटना के 6 घंटों के भीतर ही प्रातः 9:30 बजे उक्त दोनों अपराधियों को अपनी पकड़ में लिया गया। आरपीएफ के द्वारा इन दोनों आरोपियों को पकड़ कर जीआरपी को सौंप दिया गया है। जीआरपी पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए दोनों ही आरोपियों को सक्षम न्यायालय में प्रस्तुत कर दिया है।

यहां मिली जानकारी के अनुसार शनिवार की तड़के 3 बजे पेंचवेली ट्रेन का इंतजार कर रही दरबाई दंपत्ति पर दो लुटेरों के द्वारा धारदार चाकू से हमला कर उसके बैग में रखे मोबाइल तथा ₹4000 छीन कर भाग गए हैं। घटना की सूचना मिलते ही चौकी पर तैनात प्रधान आरक्षक आरके बघेल हरकत में आ गए। इनके द्वारा दंपत्ति की निशानदेही पर आरक्षक अनिल कुमार टेकाम के साथ सजगतापूर्वक सघन जांच शुरू कर दी आरपीएफ के इस दल के द्वारा रेलवे स्टेशन परिसर सहित सर्कुलेटिंग क्षेत्र में खोजबीन की गई। इसी दरमियान परासिया रेलवे स्टेशन के जुन्नारदेव एंड की ओर एक व्यक्ति को संदिग्ध स्थिति में पाकर दबिश दी गई। आरपीएफ को देखकर वह भागने लगा जिसे आरक्षक अनिल कुमार टेकाम ने लपक कर पकड़ लिया। आरोपी को पकड़ने के प्रयास में आरक्षक अनिल टेकाम को रेलिंग लग जाने के चलते हाथ में भी गंभीर चोटें लग गई। कथित आरोपी को चौकी लाकर कड़क पूछताछ किए जाने पर उसने अपना नाम कमलेश कुमार पिता सुरजन कुमार बताया। उसके द्वारा इस वारदात को कार्य कर दिए जाने की स्वीकारोक्ति भी की गई इसी दरमियान पूछताछ में उसने अपने सहयोगी रोहित का नाम भी बता दिया. आरपीएफ के द्वारा दोनों ही आरोपियों को अपनी हिरासत में लेकर उनसे चोरी किए गए बैग, रुपए 1550 की नगद धनराशि, कीपैड मोबाइल तथा वारदात में प्रयुक्त किया गया चाकू को जप्त कर लिया गया है। आरपीएफ थाना जुन्नारदेव के थाना प्रभारी बलबीर सिंह ने बताया कि दोनों ही आरोपियों की शिनाख्त पीड़ित दंपत्ति से करा लिए जाने के उपरांत उपनिरीक्षक संजय यादव, प्रधान आरक्षक आरके बघेल व आरक्षक शेख शरीफ के साथ जीआरपी थाना आमला के लिए ट्रेन से रवाना कर दिया गया, जहां पर जीआरपी थाना आमला के द्वारा इस मामले में दोनों आरोपियों पर भादवि की धारा 394, 307 एवं 34 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर उन्हें सक्षम न्यायालय में प्रस्तुत कर दिया गया है।