झमाझम वर्षा होने की संभावना

Scn news india
भोपाल । बंगाल की खाड़ी एवं अरब सागर से लगातार आ रही नमी के कारण मध्य प्रदेश के विभिन्न जिलों में वर्षा हो रही है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में बना ऊपरी हवा का चक्रवात वर्तमान में तेलंगाना एवं उससे लगे विदर्भ पर पहुंच गया है। इस वजह से मप्र के उत्तरपश्चिम क्षेत्र में झमाझम वर्षा होने की संभावना है।
शनिवार को ग्वालियर, इंदौर संभागों के जिलों में झमाझम वर्षा होने के आसार हैं। उधर, शुक्रवार को सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक शिवपुरी में 44, नौगांव में पांच, भोपाल में 4.5, इंदौर में 4.2, खरगोन में दो, उमरिया में दो, ग्वालियर में 1.9, दमोह में एक, जबलपुर में 0.7, उज्जैन में 0.4, धार में 0.2 मिलीमीटर वर्षा हुई। मलाजखंड में बूंदाबांदी हुई।
मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक वर्तमान में तेलंगाना एवं उससे लगे विदर्भ पर हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। आंध्र के तट से लेकर एक ट्रफ लाइन पश्चिमी मप्र से होकर उत्तराखंड तक बनी हुई है। आंध्र के तट से एक अन्य ट्रफ लाइन गुजरात तक मौजूद है।
इसके अतिरिक्त अफगानिस्तान और उससे लगे पाकिस्तान पर एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। इन चार मौसम प्रणालियों के असर से बंगाल की खाड़ी एवं अरब सागर से नमी आ रही है। इस वजह से लगभग पूरे मप्र में रुकरुककर वर्षा हो रही है।
शनिवार को नर्मदापुरम, हरदा, बैतूल, बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, बड़वानी, आलीराजपुर, झाबुआ, धार, इंदौर, रतलाम, देवास, ग्वालियर, दतिया, श्यौपुरकला, टीकमगढ़, छतरपुर, अनूपपुर, डिंडौरी एवं छिंदवाड़ा जिलों में झमाझम वर्षा होने की संभावना है। शेष जिलों में छिटपुट वर्षा होगी। मौसम विज्ञान केंद्र ने बताया कि अभी रुकरुककर वर्षा होने का सिलसिला बना रहेगा।