कैंसर मरीजों के प्रति संवेदनशील बैतूल सारणी से बैतूल पहुंचकर शिक्षक ने दान किए 12 इंच बाल

Scn news india

राजेश साबले जिला ब्यूरो 
बैतूल। जिले में दो वर्ष से कैंसर मरीजों के प्रति संवेदनशीलता एवं उनके आत्मविश्वास को लौटाने की दिशा में हेयर डोनेशन कैम्पेन हेयर फ़ॉर होप इंडिया में बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति द्वारा सक्रिय भागीदारी निभाई जा रही है। कैंसर मरीजों के उपचार के दौरान कीमोथेरेपी की वजह से बाल पूरी तरह झड़ जाते है। कई बार मरीजों की आईब्रो तक लॉस जो जाती है। ऐसे मरीजों का आत्मविश्वास कम होने लगता है, हेयर डोनेशन के माध्यम से ऐसे मरीजों के लिए विग बनाई जाती है। पिछले दो वर्षों में संस्था के संयोजन में श्री अग्रसेन ग्रुप बैतूल एवं आरडी पब्लिक स्कूल बैतूल द्वारा दो बड़े कैम्पेन किए गए। डोनेशन कैम्पेन के बाद लोगों को पता चला कि हेयर भी डोनेट किए जा सकते है। जिले के सारणी क्षेत्र के एक निजी स्कूल के शिक्षक द्वारा आज अपने बाल कैंसर मरीजों के लिए दान कर दिए। ज्योतिका यूनिसेक्स पार्लर के संचालक दिलीप सराठे ने पूरी सावधानी से शिक्षक के हेयर कट किए। श्री सराठे ने बताया कि कैंसर मरीजो के चेहरों की मुस्कान लौटने की इस मुहिम में सहयोग कर उन्हें भी गर्व हो रहा है।


सारणी से बैतूल आकर किया हेयर डोनेशन
सेंट फ्रेसिंस स्कूल सारणी के शिक्षक सिरिल स्कारिया ने अगस्त 2021 से अपने हेयर नहीं कटवाए है। उन्होंने बताया कि हेयर डोनेशन की जानकारी जब उन्हें मिली तो उन्होनेें भी लोगों के लिए अपने हेयर डोनेशन का निर्णय लिया, लेकिन 12 इंच हेयर डोनेशन का नियम होने की वजह से उन्हें 11 महीनों तक अपने हेयर लंबे होने का इंतजार करना पड़ा। अमूमन स्कूलों में बच्चों को बाल छोटे रखने के लिए कहा जाता है, लेकिन जब एक शिक्षक के बाल लंबे हो तो सवाल उठते ही है, जैसे ही उनके बाल 12 इंच हुए उन्होंने हेयर फॉर होप इंडिया के लिए हेयर डोनेशन करने बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति की अध्यक्ष गौरी बालापुरे पदम से सम्पर्क किया। नवरात्रि खत्म होते ही सिरिल स्कारिया आज बैतूल पहुंचे और उन्होंने अपने 12 इंच हेयर डोनेशन किए। इस दौरान हेयर फॉर होप इंडिया की संस्थापक एवं संचालक प्रेमी मेथ्यू ने भी मार्गदर्शन किया। सिरल के हेयर कुल 12 इंच होने की वजह से उन्हें पूरी सावधानी से जड़ से काटा गया।


हेयर डोनेशन करके देखिए अच्छा लगता है-स्कारिया
हेयर डोनेशन करने के बाद सिरिल स्कारिया ने बताया कि उन्होंने बस एक साल पहले यह निर्णय लिया था कि वे हेयर डोनेट करेंगे। इस बीच उन्होंने अपने बाल बढ़ाना शुरु किया। उनके कटे हुए बाल अब किसी के चेहरे की मुस्कान बनेंगे यह सोचकर ही उन्हें गर्व हो रहा है। गौरतलब है कि ज्योतिका यूनिसेक्स पार्लर सिविल लाईन में अपरान्ह 3.30 सिरिल के हेयर डोनेशन की पूरी प्रकिया की गई। कुल 12 इंच हेयर होने की वजह से सिरिल के बाल जड़ से काटे गए। इस दौरान पार्लर के सभी सदस्य एवं बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति के पदाधिकारी भारत पदम, जमुना पंडाग्रे सदस्य प्रदीप निर्मले, हर्षित पन्डाग्रे, प्रचिति कमाविसदार सहित अन्य लोग मौजूद रहे। हेयर डोनेशन की इच्छा पूरी होने पर सिरिल ने कहा कि हेयर डोनेशन करके देखिए सच में अच्छा लगता है। बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति की टीम ने स्वप्रेरणा से हेयर डोनेशन के लिये सारणी से बैतूल पहुंचे शिक्षक व ज्योतिका यूनिसेक्स पार्लर के संचालक दिलीप सराठे व उनकी टीम का आभार माना।