सारनी पाथाखेड़ा में रावण दहन हेतु तैयारी जोरो पर – पुतले तैयार

Scn news india

सारनी से  राम क्रेश हनोते  के साथ सुनील गोड़ाने की रिपोर्ट

सनातन हिंदू धर्म में दशहरे के पर्व का विशेष महत्व है। शारदीय नवरात्रि के नौ दिन बाद दशहरा या विजयादशमी का त्योहार मनाया जाता है। मान्यता है कि इस दिन मर्यादा पुरुषोत्तम राम ने रावण का अंत किया था। मां दुर्गा ने भी राक्षस महिषासुर का इसी दिन वध किया था। अधर्म पर धर्म की जीत का प्रतीक मानते हुए  इस दिन रावण का पुतला दहन किया जाता है। जो कल  यानि  5 अक्टूबर को , किया जाएगा। जिसकी तैयारी बड़े जोर शोर से, सारनी  मंगल भवन  एवं पाथाखेड़ा के फ़ुटबाल ग्राउंड में चल रही है। बता दे की इस बार सारनी में  30 फिट और पाथाखेड़ा में लगभग 20 फिट का रावण का पुतला तैयार किया जा रहा है।