100 वर्ष या इससे अधिक उम्र के मतदाता होंगे सम्मानित

Scn news india

मनोहर

देश में प्रथम आम चुनाव से अब तक निरंतर मतदान कर लोकतंत्र को सशक्त कर रहे वयोवृद्ध मतदाताओं को भारत निर्वाचन आयोग सम्मानित करेगा। इसमें 100 वर्ष या इससे अधिक आयु के मतदाता शामिल होंगे। इन मतदाताओं को यह सम्मान अन्तर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस 1 अक्टूबर को दिया जाएगा। कार्यक्रम में नई दिल्ली से मुख्य निर्वाचन आयुक्त श्री राजीव कुमार और निर्वाचन आयुक्त श्री अनूप चंद्र पांडेय, भारत निर्वाचन आयोग वर्चुअली शामिल होंगे। वे वृद्धजनों से संवाद भी करेंगे। कार्यक्रम सुबह 11.30 बजे से पूरे प्रदेश में होगा। भोपाल में मुख्य निर्वाचन सदन मध्यप्रदेश में कार्यक्रम होगा। प्रदेश में यह नवाचार पहली बार हो रहा है, जब 100 साल या इससे अधिक आयु के वृद्धजनों को आयोग द्वारा सम्मानित किया जाएगा।

प्रदेश में 100 साल से अधिक उम्र के 4168 है वृद्धजन

मतदाताओं की वास्तविक स्थिति का पता लगाने कार्यालय द्वारा एक “सम्मान एप” बनाया गया है, जिसमें बीएलओ द्वारा जानकारी अंकित की गई है। प्रदेश में वर्तमान में 100 वर्ष या इससे अधिक आयु के 4168 वृद्धजन हैं। इसमें 1128 पुरुष हैं, जबकि 3040 महिला मतदाता है। चिन्हित किए गए 4168 में से शहरी क्षेत्र के 862 व ग्रामीण क्षेत्र के 3306 मतदाता हैं। सबसे अधिक उम्र के मतदाता उज्जैन जिले के तराना विधानसभा के सालना-खेड़ी कॉलोनी निवासी श्री धन्नाजी पिता श्री देवाजी हैं, जिनकी उम्र 118 साल है। महिलाओं में 111 वर्षीया श्रीमती कुंवरीबाई निवासी पानसेमल जिला बड़वानी सर्वाधिक उम्रदराज मतदाता हैं।

सीहोर में हैं सबसे अधिक शतायु मतदाता

प्रदेश में सबसे अधिक शतायु मतदाताओं की संख्या वाला जिला सीहोर है। जहां 325 मतदाता हैं, जबकि उज्जैन 296, देवास 217, रीवा 189 और राजगढ़ जिले में इनकी संख्या 173 हैं।

41 एनआईसी कक्ष सहित 1911 स्थानों पर होगा कार्यक्रम

अन्तर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर सम्मान कार्यक्रम 41 जिलों के एनआईसी कक्ष सहित 1911 स्थानों पर होगा। इसमें 475 शहरी व 1436 स्थान ग्रामीण क्षेत्र के हैं।

बीएलओ की अध्यक्षता में गठित की गई समिति

सम्मान समारोह के लिए बीएलओ की अध्यक्षता में एक समिति बनाई गई है। इसमें पटवारी, स्थानीय शिक्षक, पंचायत सचिव, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता और रोजगार सहायक को शामिल किया गया है। समिति सदस्य शतायु मतदाताओं का सम्मान करेंगे। वे मुख्य निर्वाचन आयुक्त नई दिल्ली द्वारा जारी किए गए सम्मान पत्र मतदाताओं को भेंट करेंगे।

अधिकारियों को सौंपी जिम्मेदारी

सम्मान समारोह बेहतर तरीके से संपन्न हो जाए, इसके लिए जिला व तहसील स्तर पर 1031 अधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई है। ये सभी अधिकारी शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में होने वाले कार्यक्रम पर नजर रखेंगे।

घर जाकर करेंगे सम्मान

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, मध्यप्रदेश श्री अनुपम राजन ने बताया कि अन्तर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के अवसर पर शतायु मतदाताओं का सम्मान उनके निवास स्थान पर ही किया जाएगा। बीएलओ सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी उनके घर जाएंगे और शाल-श्रीफल सहित प्रशस्ति पत्र भेंटकर सम्मानित करेंगे।