सामाजिक संगठनों ने आरोपी को फांसी की सजा देने की मांग

Scn news india
ब्यूरो रिपोर्ट 
बैतूल। चाकलेट का लालच देकर एक 9 साल की मासूम के साथ दुष्कृत्य करने वाले सम्प्रदाय विशेष के आरोपी को मुस्लिम समुदाय ने समाज ने बहिष्कृत कर दिया है। समुदाय की अगुवाई करने वाली मुस्लमिन कमेटी ने इसकी जानकारी दी है। कमेटी ने आरोपी को सख्त सजा देने की भी मांग की है। गौरतलब है कि घटना के बाद गुस्साए नागरिकों ने सोमवार की शाम को घटित घटना के बाद थाने का घेराव भी किया था। इसके बाद मंगलवार को पुलिस ने आरोपी का अतिक्रमण में बनाया गया मकान पर बुलडोजर चलाकर जमींदोज कर दिया था।
नाजिम अंसारी ने किया था दुष्कृत्य
जामा मस्जिद सारणी का संचालन करने वाली अंजुमन अहले सुन्नत फ्लाहुल मुस्लेमीन कमेटी ने नाजिम अंसारी उर्फ सोनू को समाज से बहिष्कृत कर दिया है। कमेटी के महासचिव अब्दुल रहमान ने बताया की सारणी थाना इलाके में नौ साल की बालिका से दुष्कर्म करने वाले सोनू को समाज से निकाल बाहर किया गया है।
इस्लाम में अक्षम्य है दुष्कृत्य
उन्होंने कहा की इस्लाम में बलात्कार को घटना अक्षम्य है। बलात्कारी को संगसार कर मौत की सजा दिए जाने का फरमान है। सोनू का कृत्य मानवीयता को शर्मसार करने वाला है। उसे समाज से पृथक तो किया ही गया है। उसके परिवार को भी बहिष्कृत किया गया है। उन्होंने कहा की कृत्य कलंकित मानसिकता का प्रतीक है।
सख्त सजा दिए जाने की मांग
इधर कमेटी ने इस मामले में सारणी थाना प्रभारी को एक पत्र सौंपकर सोनू अंसारी को कड़ी सजा दिलाने की मांग की है। ताकि ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो सके। कमेटी ने इस प्रकरण को फास्ट ट्रेक कोर्ट में भी चलाने का अनुरोध किया है। बता दें की थाना सारणी क्षेत्र के तहत 8 साल की बच्ची को चॉकलेट देने के बहाने 29 साल के सोनू द्वारा अपने सूने मकान में ले जाकर दुष्कर्म किया गया था। जिसे लोगो ने पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया था।