स्कूली विद्यार्थियों का भविष्य अंधकार में – ग्रामीणों का आरोप

Scn news india

फिरदौस खान की रिपोर्ट 

मंडला जिले के बीजाडांडी क्षेत्र ग्राम गुमटी में स्कूली विद्यार्थियों का भविष्य अंधकार में है। ये हम नहीं कहते। यहाँ के ग्रामीणों का आरोप है। कारण शासकीय प्राथमिक शाला में ना ही किसी शिक्षक की तैनाती है। और ना ही उपर्युक्त सुविधायें , जिस कारण स्कूल में बच्चों की सही पढ़ाई नहीं हो पा रही है। और बच्चे स्कूल नहीं पहुंच रहे है। अभिभावक स्कूल में अध्यापकों के नहीं होने से बच्चों की पढ़ाई को लेकर चिंतित हैं। सरकारी विद्यालय अतिथि शिक्षिकाओ के भरोसे चलाया जा रहा है ।
अध्यापकों की कमी के चलते गरीब परिवारों के बच्चे शिक्षा से महरूम हो रहे हैं। यहाँ बड़ी संख्या में बच्चे स्कूल त्यागी हैं। या पढ़ने से वंचित हैं। क्योकि परिवार के हालात उन्हें गांव से बाहर या प्राइवेट स्कूलों में पढ़ाने के अनुकूल नहीं हैं। बता दे कि गांव के शासकीय प्राथमिक शाला में ,करीब 45 से 50 बच्चे अध्ययनरत हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि विद्यालय में शिक्षकों की काफी लंबे समय से तैनाती नहीं है। और विद्यालय परिसर में केवल दो अतिथि शिक्षक हैं। शिक्षकों का अभाव विद्यालय में देखने को मिल रहा है। बच्चों ने भी अपने-अपने परिजनों के माध्यम से अपनी बात रखी। ग्रामीणों का आरोप है कि शिक्षकों की लापरवाही के चलते उनके बच्चों का भविष्य अंधकारमय हो रहा है। जिस पर शासन को ध्यान देने की जरूरत है।