श्रमिक नेता मनीष शुक्ला की मौत पर ब्राह्मण समाज में आक्रोश

Scn news india

दिवाकर पांडेय 

मृतक के परिवार को एक करोड़ रुपए की सहायता राशि दी जाए :विष्णुधर
मैहर केजेएस सीमेंट प्लांट के श्रमिकों का नेतृत्व करने वाले ब्राम्हण श्रमिक नेता मनीष शुक्ला के निधन का समाचार सुनकर ब्राह्मण संगठनों में भारी आक्रोश व्याप्त है तथा केजेएस सीमेंट प्लांट में कई ब्राह्मण नेताओं का पहुंचना शुरू हो गया है ।
इस घटना के संबंध में अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के जिलाध्यक्ष पंडित विष्णुधर उरमलिया ने कहा है कि फैक्ट्री प्रबंधनो द्वारा रमेश तिवारी हत्याकांड को दोहराया गया है। ब्राह्मणों को टारगेट करके उनके नेतृत्व को कुचलने का प्रयास किया जा रहा है जो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा ।

आपने आगे कहा कि श्रमिकों की अगुवाई करने वाले ब्राह्मण श्रमिक नेता मनीष शुक्ला ब्राह्मण समाज के निडर निर्भीक और जांबाज युवा कार्यकर्ता थे। फैक्ट्री प्रबंधन ने कई बार मनीष शुक्ला को श्रमिकों का नेतृत्व न करने की चेतावनी भी दी थी तथा चेतावनी के पश्चात प्रलोभन भी दिया था कि वह फैक्ट्री हित में काम करें लेकिन नेक दिल जांबाज युवा श्रमिक नेता मनीष शुक्ला ने घुटने नहीं टेके और श्रमिकों के लिए लगातार संघर्ष करते रहे लिहाजा फैक्ट्री प्रबंधन के आका व क्षेत्रीय पूंजीपति तथा जमीन व कारोबार में संलिप्त दलाल मनीष शुक्ला से चिढ़े हुए थे। फैक्ट्री के टुकड़ों में पलने वाले कथित दलालों व प्रबंधन ने मिलकर मनीष तिवारी को जान से मारने का षड्यंत्र रचा और घटना को अंजाम दिया।
श्री उरमलिया ने यह भी कहा कि श्रमिक नेता मनीष शुक्ला की हत्या पर प्रशासन जरा भी उदासीनता न बरते अन्यथा हालात बिगड़ जाएंगे और ब्राह्मण समाज को मजबूर होकर सड़कों पर उतरना पड़ेगा ,जिसकी समस्त जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी ।उन्होंने कहा कि घटना को अंजाम देने वाले संदिग्ध व्यक्तियों व कथित सीमेंट प्रबंधन के आकाओं को पुलिस बखूबी जान रही है। सूत्रों के हवाले से पुलिस को सब कुछ ज्ञात है। अतः पुलिस को चाहिए कि आरोपी जनों को गिरफ्तार कर उनके विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज करे अन्यथा शव का अग्नि संस्कार नहीं किया जाएगा तथा संपूर्ण ब्राह्मण समाज स्वर्गीय श्रमिक नेता को न्याय मिलने तक अपना संघर्ष जारी रखेगा।
उन्होंने सक्षम प्रशासन से मांग की है कि मृतक के आश्रितों को ₹10000000 की आर्थिक सहायता दिलाई जाए तथा परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाए।

घटना की सीबीआई जांच हो:रामनिवास उरमलिया
“””””””””””””””””””””””””””””””””””””
भोपाल प्रवास पर गए मैहर से ही दबंग ब्राह्मण नेता रामनिवास उरमलिया ने प्रशासन से मांग की है कि यह कोई सामान्य घटना नहीं है ।अतः मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रशासन आरोपियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करें तथा इस पूरे घटनाक्रम की सीबीआई जांच कराई जाए क्योंकि श्रमिक नेता मनीष शुक्ला की हत्या मे कई और बड़े लोगों का हाथ हो सकता है । इस रहस्य से पर्दा तभी उठेगा जब मामले की सीबीआई जांच होगी।
घटना की जानकारी मिलते ही ब्राह्मण नेता श्री उरमलिया भोपाल से रवाना हो चुके हैं तथा रात्रि 8:00 बजे तक वह भी मौके पर पहुंच जायेगे । श्री उरमलिया ने सभी ब्राह्मण नेताओं एवं सामाजिक संगठनों से अपील की है कि हम सब मिलजुल कर अपने स्वर्गीय लाडले को न्याय दिलाने के लिए लड़ाई लड़ेंगे ।आप सभी अपना संयमित प्रदर्शन करते हुए प्रशासन के समक्ष बेबाकी से अपनी बात रखें तथा न्याय मिलने तक अपना संघर्ष जारी रखें।