नाबालिग नौवी की छात्रा से दुष्कर्म कर गला घोंटकर हत्या, आक्रोशित ग्रामीणों ने लगाया जाम

Scn news india

फिरदौस खान की रिपोर्ट 

मंडला जिले के नारायनगंज के एक ग्राम पंचायत में  नौवीं की कक्षा की छात्रा के साथ, दुष्कर्म कर उसकी हत्या का सनसनी खेज मामला सामने आया है। बता दे की 21 सितंबर को स्कूल की छुट्टी होने पश्चात, घर जाते समय रास्ते में  अपराधी अनिल कुमार, निवासी ग्राम चंदेसरा द्वारा अपने मोटरसाइकिल से  दो बालिकाओं को घर छोड़ने के बहाने बहला-फुसलाकर साथ ले गया। जिसमें एक बालिका को उसके घर छोड़ दिया। वहीं दूसरी बालिका को अपने मोटरसाइकिल से  बरबसपुर के जंगल में ले जाकर जबरन दुष्कर्म किया। और दुपट्टे से गला घोंटकर उसकी हत्या कर, फरार हो गया। बालिका जब घर नहीं पहुंची तो  परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की। एवं पुलिस में शिकायत की। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने समय पर कारवाही नहीं की। जिसके बाद खुद परिजनों ने मामले की छानबीन कर आरोपी को पकड़  पुलिस के हवाले किया। वहीँ आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन कर नारेबाजी करते हुए  धरने पर बैठ गए और जाम लगा दिया। घटना की जानकारी लगते ही  निवास विधायक डॉक्टर अशोक मर्सकोले व जिला पंचायत सदस्य भूपेंद्र वरकड़े मौके पर पहुंचे। एवं कारवाही का भरोसा जताते हुए  परिजनों व क्षेत्रवासियों को समझाइश देने का लगातार प्रयास करते रहे ।

टिकरिया थाना प्रभारी व पुलिस प्रशासन की गंभीर लापरवाही

परिजनों का आरोप है कि देर रात 9:00 बजे लड़की के गुम होने के दिन ही थाना में सूचना दी गई थी जिस पर थाना प्रभारी द्वारा गंभीरता तनिक भी नहीं दिखाया गया ना मौके पर डायल 100 तक को नहीं भेजा गया परिजनों का आरोप है कि गरीबों के साथ हमेशा शासन प्रशासन हमेशा दोमुहा व्यवहार करती आई है और आज भी हमारे साथ ऐसा ही किया जा रहा है अगर गंभीरता दिखाया गया होता तो संभवतः इस प्रकार की घटना कारित नहीं होता।

ग्रामीणों द्वारा साथ की लड़कियों से पूछताछ के बाद उक्त आरोपी को पकड़कर थाना तक ले आए वही ग्रामीण स्वंय ही पतासाजी करते लड़की के शव तक पहुंच सके। प्रशासन की इसी प्रकार की लापरवाही के चलते गुस्साए क्षेत्रवासियों परिजन लड़की के शव को लेकर नेशनल हाईवे लालीपुर बम्हनी के पास लगभग 1:00 बजे से जाम लगाकर बैठ गए। मांग की गई आरोपी को शीघ्र फांसी की सजा दिया जाए और उसके घर को बुलडोजर चला कर ढहाया जाए साथ ही लापरवाह पुलिस प्रशासन के अधिकारी कर्मचारियों को तत्काल हटाया जाए जिससे कि निकट भविष्य में इस प्रकार की घटना ना हो सके।
6 घंटे लगभग हाईवे में लगा रहा जाम आवागमन रुक जाने से आमजन को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा लोगों को घण्टो प्यासे ही सड़क पर खड़े रहना पड़ा। मौके पर जिला कलेक्टर को आने की मांग को लेकर अड़े रहे परिजन व ग्रामीण 6 घंटों में भी महज 30 किलोमीटर का सफर तय कर नहीं पहुंच सकी जिला कलेक्टर ।निवास विधायक डॉ अशोक मर्सकोले व जिला पंचायत सदस्य इंजी.भूपेंद्र वरकड़े मौके पर पहुंचकर परिजनों व क्षेत्रवासियों को समझाइश देने का लगातार प्रयास करते रहे । वंही लगभग 6 बजे के आसपास पुलिस अधीक्षक यशपाल सिंह राजपूत मौके पर पहुंचे जहां परिजनों द्वारा अपनी मांगों की लिखित शिकायत पत्र सौप कर शीघ्र कार्यवाही की मांग की गई।