निजी स्कूल की मनमानी छात्राओं को परीक्षा देने से रोका स्कूल से भगाया पिता ने कलेक्टर से की शिकायत

Scn news india

संवाददाता सुनील यादव 
कटनी -जहां एक तरफ़ बेटी पढाओ बेटी बचाओ के साथ सरकार लड़कियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढाने की बात कर रही है वहीं निजि स्कूल संचालक सरकार के आदेश की धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे हैं – मामला कटनी जिले का है जहां के एक निजि स्कूल ने दो छात्राओं को फ़ीस नही भरने के चलते स्कूल से बेदखल करने का फ़ैसला सुना दिया है – खास बात ये कि महज फ़ीस नही जमा करने के चलते दो्नों लड़कियों को परीक्षा नही देने दिया गया और यह कह कर स्कूल से भगा दिया गया कि जब तक फ़ीस जमा नही होगी स्कूल के भीतर आने की इजाजत नही है –

अपने पिता के साथ कटनी कलेक्टर के पास न्याय की आस लिए पहुंची ये दोनों बहने शहजादी और साईस्ता हैं – ये दोनों लड़कियां कॉलेज रोड पर स्थित ग्लोबल पब्लिक स्कूल में पढती हैं – इनकी शिकायत है कि फ़ीस जमा नही होने के चलते इन्हें परीक्षा में शामिल होने से रोका गया है – इनके पिता शेख रज्जन के मुताबिक उनकी दो बेटियां शहजादी बी कक्षा सातवीं और साईस्ता बानो कक्षा पांचवी में ग्लोबल पब्लिक स्कूल में पढ़ती हैं – छोटी बेटी साईस्ता बानो शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत फ्री में पढ़ाई कर रही है लेकिन स्कूल प्रबंधन छूट के बाद भी जबरन पैसों का मांग करता है – शेख रज्जन ने स्कूल पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि मेरी बेटी सरकारी छूट में पढ़ती है –लेकिन स्कूल से इसका लाभ नही मिलता है – शेख रज्जन के मुताबिक वह किसी तरह मजदूरी कर अपने परिवार का भरण पोषण करता है लेकिन लॉक डाउन के चलते वह काम नही कर पाया जिसकी वजह से उसने स्कूल फ़ीस नही भर पाया – शेख रज्जन ने बताया कि वह बाजार से 4 हजार रुपए कर्ज लेकर अपनी बड़ी बेटी की करोना कॉल में ली गई फीस कुछ दिन पहले जमा कर दिया था – लेकिन स्कूल प्रबंधन और पैसों की मांग कर रहा है जो उसके बूते के बाहर है – शेख रज्जन की मानें तो उसने स्कूल प्रबंधन के सामने धीरे धीरे पूरी फ़ीस जमा करने का प्रस्ताव भी रखा लेकिन स्कूल प्रबंधन ने उनकी बेटियों को परीक्षा से बाहर का रास्ता दिखा दिया – जब रज्जन ने इस बात की शिकायत कलेक्टर से की तब मामला और बिगड़ गया – जिसके बाद ग्लोबल पब्लिक स्कूल की संचालिका उसके घर पहुंच गईं और धमकी देते हुए दोनों बच्चियों की टीसी काटने के अलावा 16हजार रूपए और जमा करने की धमकी दे डालीं –

शेख रज्जाक – पीड़ित पिता
कलेक्टर के पास की गई शिकायत जांच के लिए शिक्षा विभाग के बीआ आर सी के पास पहुंची तो उन्होंने आनन फ़ानन में स्कूल संचालक को तलब कर लिया – जिसके बाद दोनों पक्षों को आमने सामने बैठा कर मामला सिलझा लिया गया – बी आर सी विवेक दुबे के मुताबिक दोनों बच्चियों को स्कूल में पढाई के अलावा परीक्षा भी देने का अधिकार है और वे आने वाले समय में इस बात की निगरानी भी करेंगे ताकि किसी वजह से कोई शिक्षा से वंचित ना हो सके –

विवेक दुबे – बी आर सी कटनी
सरकार ने भी कोविड काल के वक्त की ली गई फ़ीस को आपदा के चलते माफ़ करने का भरोसा दिया था लेकिन निजि स्कूल संचालक सरकार के इस फ़रमान से कोई सरोकार नही रखते यही वजह है कि शहजादी और साईस्ता जैसी छात्राओं को कलेक्टर के पास गुहार लगानी पड़ रही है ।