उजड़ती सारनी को बचाने के लिए एक चिट्ठी सीएम के नाम पोस्टकार्ड अभियान में लोगों ने लिखा अपना दर्द

Scn news india

ब्यूरो रिपोर्ट

सारनी। युवा संघर्ष मंच द्वारा एक चिट्ठी सीएम के नाम अभियान बुधवार को वार्ड क्रमांक 5 में पहुंचकर लोगों से उजड़ते शहर को बचाने के लिए पोस्टकार्ड लिखवाए और मतदान अवश्य करने के लिए प्रेरित किया। इस वार्ड में निवास करने वाले लोगों ने बताया कि दो जून की रोटी की तलाश में परिवार के अधिकांश सदस्य शहर से बाहर जा चुके है। ज्यादातर घरों में महिलाएं घर पर रहकर बच्चों की देखरेख और शिक्षा की जिम्मेदारी निभा रही है। लोग वर्तमान स्थिति देखकर आने वाले भविष्य की चिंता सता रही है।

राधाबाई ममता, कविता, सरोज, फरजाना ने बताया कि राजनीतिक दल के लोग जनता के साथ बड़े-बड़े वादे कर देते है। उसे पूरा करने के लिए बगले झांकने लगते है। परिवार के पुरुष बाहर जाकर काम कर जैसे तैसे परिवार का भरण पोषण किया जा रहा है। इसी तरह वार्ड के रवि हेड़ाउ, शिवशंकर साहू,शिवाजी बड़ौदे, साजन गांठे ने बताया कि विद्युत नगरी की चमक बिजली यूनिट से है यहां की चमक अब धुंधली हो गई है। इसके पीछे मुख्य वजह यह है कि मुख्यमंत्री ने बिजली यूनिट लगाने का वादा कर भूल गए। जिसके चलते यह शहर उजड़ता चला गया।

यहां के हालात बद से बदतर होते गए कई झोपड़ियां खाली कर मजदूर वर्ग पलायन कर गया है। इस ओर जनप्रतिनिधियों द्वारा सिर्फ आश्वासन की खुराक दी जा रही है। इधर युवा संघर्ष मंच द्वारा एक चिट्ठी सीएम के नाम अभियान के अंतर्गत वार्ड में घूम घूम कर पोस्टकार्ड लिखवाया जा रहे है। लोगों को उजड़ते शहर को बचाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। यह क्रम सारनी में यूनिट लगने और पाथाखेड़ा में कोयला खदान खोलने तक चलता रहेगा।