रेलवे स्टेशन के दो नंबर प्लेटफार्म तोड़ा युवक ने दम

Scn news india

शव को अस्पताल पहुंचाने हेमंत ने दिखाई दरियादिली
बैतूल। बीती रात रेलवे स्टेशन बैतूल के प्लेटफार्म नंबर दो पर एक युवक की मौत हो गई। जिसे ऑटो एम्बुलेंस के माध्यम से जिला अस्पताल पहुंचाया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार युवक मूलत: ग्राम भैंसदेही निवासी है और पिछले 20 वर्षों से रामनगर में अपनी मां के साथ निवास करता था। कुछ दिनों पहले उसे हार्ट अटैक भी आया था। आज सुबह जब प्लेटफार्म नंबर 2 पर उसका शव लोगों ने देखा तो आरपीएफ को सूचना दी। गरीब परिवार के पास शव को जिला अस्पताल पहुंचाने के लिए भी राशि नहीं थी ऐसे में पूर्व सांसद हेमंत खंडेलवाल ने एक बार फिर दरियादिली दिखाई और शव को ऑटो एम्बुलेंस से अस्पताल पहुंचाने के लिए कहा गया।
सिर पर टोकरी में केले बेचकर होता था गुजारा
प्राप्त जानकारी के अनुसार भैेंसदेही निवासी जगदीश पिता बाबूलाल नागले(35) पिछले 20 वर्षों से अपनी मां के साथ रामनगर में निवास करता था। बीती रात उसकी अज्ञात कारणों से मौत हो गई। जगदीश सिर पर टोकरी में केले रखकर पूरे शहर में बेचता था। जानकारी के अनुसार उसे पूर्व में एक अटैक भी आया था। सुबह 9 बजे रेलवे स्टेशन बैतूल के ऑटो एम्बुलेंस चालक भूरू फजलानी को मृतक के परिजनों ने कॉल पर शव अस्पताल पहुंचाने के लिए कहा। जिसके बाद उन्होंने ऑटो एम्बुलेंस संचालक को सूचित किया। गौरतलब है कि ऑटो एम्बुलेंस से शव परिवहन पर पूर्व सांसद द्वारा प्रोत्साहन राशि दी जाती है। ऑटो एम्बुलेंस से आमतोर पर पुलिस की मौजूदगी में दुर्घटना स्थल या अज्ञात शव का परिवहन किया जाता है। आज जब एक जरुरतमंद की मदद के लिए श्री खण्डेलवाल से आग्रह किया गया तो उन्होंने तत्काल मदद की।
ऑटो एम्बुलेंस से 27वीं बार किया गया शव परिवहन
बैतूल सांस्कृतिक सेवा समिति द्वारा संचालित ऑटो एम्बुलेंस योजना से 27वीं बार शव का परिवहन किया गया। जिला अस्पताल में शव परिवहन के लिए पूर्व सांसद श्री खण्डेलवाल द्वारा शव वाहन का संचालन किया जा रहा है। इस वाहन के माध्यम से जिला अस्पताल से शव का परिवहन किया जाता है। जब ऑटो एम्बुलेंस योजना वर्ष 2016 में अस्तित्व में आई तो श्री खण्डेलवाल द्वारा ऑटो से शव परिवहन किए जाने की स्थिति में ऑटो चालक को प्रोत्साहन राशि स्वयं देने की जिम्मेदारी ली। वर्ष 2016 से पिछले 6 वर्षों में ऑटो एम्बुलेंस चालकों द्वारा 27 शवों का परिवहन किया जा चुका है। संचालन समिति द्वारा ऑटो एम्बुलेंस योजना के सभी सहयोगियों के प्रति आभार माना है, जिनकी वजह से भलाई की सप्लाई सतत जारी है।