जिला अस्पताल के पेंशन शाखा के राहुल मिश्रा 8000 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार

Scn news india

संवाददाता सुनील यादव 

कटनी में जबलपुर की लोकायुक्त टीम ने की जिला अस्पताल में पेंशन शाखा पर पदस्थ बाबू राहुल मिश्रा को 8000 के लिए रिश्वत लेते पकड़ा

मामला कटनी का है जहां पर कटनी में जबलपुर लोकायुक्त की टीम के द्वारा छापे मारकर कार्यवाही की गई है लोकायुक्त जबलपुर की 6 सदस्य टीम ने आज कटनी में छापा मारा है इसी दौरान कटनी जिला अस्पताल में पेंशन शाखा पर पदस्थ राहुल मिश्रा को 8000 की रिश्वत लेते हुए किया गया ट्रैक किया गया गिरफ्तार जबलपुर लोकायुक्त की टीम के द्वारा यह कार्यवाही की गई है शिकायतकर्ता संदीप यादव के द्वारा लोकायुक्त में शिकायत की गई थी जिसके बाद जबलपुर लोकायुक्त की 6 सदस्य टीम कटनी पहुंची और जिला अस्पताल कटनी में पेंशन शाखा में पदस्थ राहुल मिश्रा को 8000 की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया है।

शिकायतकर्ता संदीप यादव जोकि बड़वारा स्वास्थ्य विभाग में पदस्थ है जिला अस्पताल में पेंशन शाखा पर पदस्थ राहुल मिश्रा के द्वारा समय मान वेतन मान बढ़ाने के लिए रिश्वत मांगी गई थी जिसके बाद विभाग के एक कर्मचारी संदीप यादव के द्वारा लोकायुक्त जबलपुर में शिकायत की गई जिसके बाद आज जबलपुर लोकायुक्त की 6 सदस्य टीम पहुंची और सीएमओ ऑफिस में कार्यवाही की गई कार्यवाही में बड़वारा स्वास्थ्य विभाग में पदस्थ एक कर्मचारी के द्वारा शिकायत की गई थी जिसके बाद कार्यवाही की गई है बड़वारा में पदस्थ कर्मचारी से समय मान वेतनमान को बढ़ाने के लिए लगातार चक्कर कटवाया जा रहा था और इसके पश्चात पैसे की मांग की गई जिसके बाद शिकायतकर्ता संदीप यादव के द्वारा 13 सितंबर को लोकायुक्त जबलपुर में शिकायत की गई जिसके बाद आज 6 सदस्य जबलपुर लोकायुक्त की टीम जिला अस्पताल पहुंची और सीएचएमओ ऑफिस में पदस्थ पेंशन शाखा में बाबू राहुल मिश्रा को 8000 की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया है फिलहाल अभी लोकायुक्त द्वारा कार्यवाही की जा रही है और कागजातों को खंगालने का काम किया जा रहा है लगातार कटनी में काम करवाने के लिए अधिकारियों से रिश्वत मांगने का काम किया जा रहा था जिसके बाद शिकायत होने के पश्चात लोकायुक्त के द्वारा कार्यवाही की गई है और जिससे इस तरह काम करने वाले कर्मचारियों पर हड़कंप मचा हुआ है फिलहाल शिकायतकर्ता के द्वारा यह बताया गया कि एक लंबे समय से काम करवाने के लिए बार-बार बुलाया जा रहा था और बाद में पैसे की मांग की गई जिसके बाद लोकायुक्त में शिकायत करने के पश्चात या कार्यवाही की गई है