धन की देवी को प्रसन्न करने हुई महालक्ष्मी की पूजा

Scn news india

संवाददाता सुनील यादव 

कटनी । धन की देवी महालक्ष्मी को प्रसन्न करने हाथी पर सवार महालक्ष्मी का पूजन किया गया यह पर्व पौराणिक समय से चला रहा जिसमें महालक्ष्मी की 16 दिनों तक व्रत रहकर आराधना की जाती है लेकिन आजकल के परिवेश में 1 दिन के व्रत रखकर महिलाएं महालक्ष्मी व्रत की पूजा करती हैं शहर के अग्रवाल धर्मशाला में सामूहिक रूप से महालक्ष्मी का पूजन महाराज अग्रसेन के तैल चित्र के समक्ष हाथी पर विराजे लक्ष्मी का पूजन किया गया।

इस अवसर पर बड़ी संख्या में यहां महिलाएं मौजूद रहे अग्रवाल समाज मां लक्ष्मी को अपनी कुलदेवी के रूप में पूछता है यही कारण है कि इस पर्व का विशेष महत्व है भारतवर्ष में अलग-अलग धार्मिक मान्यताओं के अनुसार महालक्ष्मी का व्रत महिलाओं द्वारा रखा जाता है ना लक्ष्मी का विधि विधान से पूजन किया जाता है ताकि उनके घर में संपन्नता रहे और धन धन की कभी कमी ना आए इस दिन महालक्ष्मी हाथी पर सवार होकर आती हैं और अपने भक्तों पर कृपा बरसाती हैं।