पंचायत सचिव का निलंबन,एक की सेवाएं समाप्त,सांईंखेड़ा के पूर्व पटवारी का भी होगा निलंबन

Scn news india

राजेश साबले जिला ब्यूरो 

  • योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही पर एक पंचायत सचिव का निलंबन एवं एक की सेवाएं समाप्त करने के निर्देश
  • राजस्व अभिलेख दुरुस्त नहीं करने पर सांईंखेड़ा के पूर्व पटवारी का भी होगा निलंबन
  • नर्मदापुरम संभाग के आयुक्त श्री मालसिंह भी पहुंचे ग्राम संवाद कार्यक्रम में
  • कलेक्टर ने सुनीं समस्याएं, समय सीमा में निराकरण के निर्देश दिए

बैतूल-जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में मूलभूत समस्याओं के निराकरण, व्यक्तिगत शिकायतों/समस्याओं के निराकरण तथा हितग्राहीमूलक योजनाओं के धरातल पर क्रियान्वयन की स्थिति की समीक्षा के उद्देश्य से संचालित ग्राम संवाद कार्यक्रम 15 सितंबर को जनपद पंचायत मुलताई के सांईखेड़ा क्लस्टर में आयोजित किया गया। क्लस्टर बैठक ग्राम सांईंखेड़ा में आयोजित हुई। क्लस्टर बैठक में नर्मदापुरम संभाग के आयुक्त श्री मालसिंह भी विशेष रूप से उपस्थित थे।

कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस ने क्लस्टर ग्राम सांईखेड़ा में ग्रामीणों की समस्याएं सुनते हुए ग्राम ऐनखेड़ा में स्कूल भवन क्षतिग्रस्त होने के कारण अतिरिक्त कक्ष में कक्षाएं लगाने के लिए निर्देश दिए। ग्राम गौला में नल-जल योजना की पाइपलाइन में लीकेज एवं पानी की टंकी क्षतिग्रस्त होने की शिकायत पर तत्काल मरम्मत करवाने के निर्देश दिए गए। इसी तरह उमनबेहरा में जल जीवन मिशन अंतर्गत नल-जल योजना के वॉल्व लीकेज एवं प्याऊ क्षतिग्रस्त होने की शिकायत पर संबंधित ठेकेदार को कारण बताओ नोटिस जारी करने के पीएचई के अधिकारी को निर्देश दिए गए।
ग्राम पौनी में राजस्व मामले लंबित होने की शिकायत पर पटवारी श्री गणेश उइके को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए। ग्राम निमनवाड़ा की दिव्यांग सुश्री रतनमाला मालवीय को वोटर आईडी बनाने, राशन कार्ड अंतरित करने एवं ट्रायसिकल उपलब्ध कराने के लिए भी कलेक्टर द्वारा कहा गया।


ग्राम निमनवाड़ा में पाइप लाइन की क्वालिटी खराब होने की शिकायत पर कलेक्टर ने कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी को पाइप लाइन की गुणवत्ता का परीक्षण करने के निर्देश दिए।
ग्राम सोनोरा में आवासीय स्थानों पर बिजली के तार लटके होने की शिकायत पर बिजली के तार ठीक करने हेतु विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया।
ग्राम लिहदा में नामांतरण प्रकरण लंबित होने की शिकायत पर संबंधित पटवारी को कारण बताओ नोटिस देने के निर्देश देते हुए कलेक्टर ने तत्काल प्रकरणों का निराकरण करने के निर्देश दिए।


ग्राम खेड़ीकोर्ट में स्कूल भवन की दीवार गिर जाने पर कलेक्टर ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि नए भवन की स्वीकृति के लिए कार्रवाई की जाएगी। यहां ग्रामीण हाट बाजार हैंडओवर नहीं होने की शिकायत पर तत्काल कार्रवाई के लिए भी कहा गया। ग्राम में पुरानी नल-जल योजना को जल जीवन मिशन के ठेकेदार द्वारा तोड़े जाने की शिकायत पर ठेकेदार से नुकसानी की वसूली के लिए कलेक्टर ने निर्देश दिए।
इस दौरान प्रधानमंत्री सडक़ योजना के तहत अनेक स्थानों पर बरसात के पानी का निकास नहीं होने की शिकायत मिलने पर कलेक्टर ने प्रधानमंत्री सडक़ योजना के अधिकारी को पानी निकासी के उचित प्रबंध करने के निर्देश दिए। वहीं ग्राम पौनी पहुंचने वाले मार्ग पर पुलियाओं में रैलिंग लगाने हेतु प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के अधिकारियों को निर्देशित किया गया।
ग्राम सांईंखेड़ा में वर्ष 2002 से लंबित एक राजस्व अभिलेख दुरुस्तीकरण के मामले में वहां के तत्कालीन पटवारी श्रीमती संतोषी प्रजापति को निलंबित करने के कलेक्टर ने निर्देश दिए। ग्राम के ही नेत्रहीन श्री बालाराम माकोड़े को नियमानुासर प्रधानमंत्री आवास योजना एवं अन्य योजनाओं का लाभ देने के भी कलेक्टर द्वारा निर्देश दिए गए।


ग्राम संवाद में ग्राम निमनवाड़ा के पंचायत सचिव श्री परसराम बारवे द्वारा संबल योजना के क्रियान्वयन में लापरवाही पाए जाने पर उनको निलंबित करने के कलेक्टर द्वारा निर्देश दिए गए। इसी तरह साबड़ी के पंचायत सचिव श्री रामसिंह धुर्वे द्वारा शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन में गंभीर लापरवाही प्रदर्शित होने पर उनकी सेवाएं समाप्त करने के कलेक्टर द्वारा निर्देश दिए गए।


इस दौरान जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अभिलाष मिश्रा द्वारा ग्रामीणों की समस्याएं सुनी गई। ग्राम संवाद कार्यक्रम में ग्राम पंचायत सांईंखेड़ा, खेड़ीकोर्ट, निमनवाड़ा, लिहदा, पौनी, गौला, ऐनखेड़ा, टेमझिरा-अ, कान्हाखापा, साबड़ी, पोहर एवं ग्राम पंचायत मोहरखेड़ा के ग्रामीणों की समस्याएं सुनी गई। इस दौरान प्राप्त 74 शिकायतों में से 42 का मौके पर ही निराकरण किया गया, शेष के निराकरण के लिए अधिकारियों को समय-सीमा प्रदान की गई। कार्यक्रम में जनपद अध्यक्ष मुलताई श्रीमती नानी बाई भी उपस्थित थीं।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की पॉलिसी वितरित
कार्यक्रम में नर्मदापुरम संभाग के आयुक्त श्री मालसिंह, कलेक्टर श्री बैंस एवं सीईओ जिला पंचायत श्री मिश्रा द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत चार किसानों को बीमा पॉलिसी भी प्रदान की गई।