मध्य प्रदेश – भारी वर्षा के आसार

Scn news india
मध्य प्रदेश के ग्वालियर, चंबल में भारी वर्षा के आसार
MP Weather Forecast: उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश पर बने गहरे कम दबाव के क्षेत्र के उत्तर प्रदेश की तरफ मुड़ने के आसार हैं। इसके प्रभाव से गुरुवार को ग्वालियर, चंबल, सागर संभागों के जिलों में भारी वर्षा होने की संभावना है।
MP Weather Forecast: भोपाल । अलग-अलग स्थानों पर बनी तीन मौसम प्रणालियों के असर से मध्य प्रदेश में वर्षा का सिलसिला बना हुआ है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक गुरुवार को उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश पर बने गहरे कम दबाव के क्षेत्र के उत्तर प्रदेश की तरफ मुड़ने के आसार हैं। इसके प्रभाव से गुरुवार को ग्वालियर, चंबल, सागर संभागों के जिलों में भारी वर्षा होने की संभावना है। उधर बुधवार को सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक शिवपुरी में 55, जबलपुर में 33.4, रतलाम में 30, धार में 26, भोपाल में 19.2, नौगांव में 19, गुना में 19, रायसेन में 18, सतना में आठ, ग्वालियर में सात, पचमढ़ी में छह, इंदौर में पांच, उज्जैन में चार, सागर में तीन, नर्मदापुरम में तीन, मलाजखंड में तीन, दमोह एवं खरगोन में एक, मंडला में 0.3, छिंदवाड़ा में 0.2 मिलीमीटर वर्षा हुई।
मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक मध्य प्रदेश में बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे तक सीजन की कुल 1057.4 मिमी. वर्षा हो चुकी है, जो सामान्य वर्षा (886.6 मिमी.) के मुकाबले 19 प्रतिशत अधिक है। हालांकि अभी भी चार जिलों रीवा, सीधी, दतिया एवं आलीराजपुर में सामान्य से कम वर्षा हुई है। मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में वर्तमान में गहरा कम दबाव का क्षेत्र उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश पर बना हुआ है। मानसून ट्रफ जैसलमेर, कोटा से उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश पर बने गहरे कम दबाव के क्षेत्र से सतना, पेंड्रा रोड, झारसुगड़ा होते हुए बंगाल की खाड़ी तक बना हुआ है।
कोंकण में हवा के ऊपरी भाग में चक्रवात बना हुआ है। इस चक्रवात से लेकर उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश पर बने गहरे कम दबाव के क्षेत्र से होकर बंगाल की खाड़ी तक बना हुआ है। इन तीन मौसम प्रणालियों के असर से बंगाल की खाड़ी एवं अरब सागर से मिल रही नमी के कारण रुक-रुककर वर्षा हो रही है। शुक्ला के मुताबिक गहरे कम दबाव का क्षेत्र उत्तर प्रदेश की तरफ बढ़ रहा है। इस वजह से गुरुवार-शुक्रवार को ग्वालियर, चंबल एवं सागर संभागों के जिलों में भारी वर्षा हो सकती है। शेष जिलों में छिटपुट वर्षा होती रहेगी।