राष्ट्र की विचारधारा ही संघ की विचारधारा है:ब्रजकांत

Scn news india

योगेश चौरसिया 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ: स्वर्णिम भारत के दिशा सूत्र पुस्तक का हुआ विमोचन

मण्डला। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सम्पर्क विभाग द्वारा स्थानीय सरदार पटेल महाविद्यालय में संघ के वरिष्ठ प्रचारक सुनील आंबेकर द्वारा लिखित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ: स्वर्णिम भारत के दिशा सूत्र पुस्तक का विमोचन कार्यक्रम आयोजित किया गया।


निर्दोष, निर्गुण, समतामूलक समाज की रचना ही संघ का लक्ष्य
इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ सह प्रांत प्रचारक ब्रजकांत ने अपने वक्तव्य के दौरान कहा कि संघ की कोई विचारधारा नहीं है राष्ट्र की विचारधारा ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की विचारधारा है। उन्होंने कहा कि जैसे बिंदु-बिंदु से सिंधु बनता है, जैसे एक बिंदु भी सिंधु का कारण है उसी तरह से स्वयंसेवक से संघ और संघ से स्वयंसेवक दोनों एक दूसरे के पर्याय हैं। उन्होंने संघ के रोडमेप पर चर्चा करते हुए कहा कि संघ का लक्ष्य है निर्दोष, निर्गुण, समतामूलक समाज की संरचना करना। उन्होंने कहा कि हम किसी को अपना विरोधी या प्रतिद्वंदी नहीं मानते। हमारा पूरा समाज है, आज जो है वो वर्तमान का स्वयंसेवक जो नहीं बना वो भविष्य का स्वयंसेवक। हम सभी को अपना मानते हैं। उन्होंने कहा पुस्तक से संघ समझा तो जा सकता है पर अनुभव नहीं किया जा सकता। संघ का अनुभव करना है तो संघ में काम करना होगा, शाखा जाना होगा। उन्होंने शाखा को ही संघ बताया।


महापुरूषों के उद्बोधन का संकलन है यह साहित्य
जिला प्रचार प्रमुख विवेक अग्रिहोत्री ने बताया कि संघ राष्ट्रीय हित व समाज जागरण में कार्यरत विभिन्न महापुरूषों के भिन्न-भिन्न उद्बोधन को संकलित कर समाज तक साहित्य के माध्यम से पहुँचाने का दायित्व निर्वहन करता रहा है। इसी श्रृंखला में संघ के सम्पर्क विभाग द्वारा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ स्वर्णिम भारत के दिशा सूत्र पुस्तक का विमोचन कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिला संघचालक हीरानंद चंद्रवंशी की अध्यक्षता एवं पूज्य सिंधी पंचायत के मुखी गोर्वधन सिरवानी के मुख्य आतिथ्य में आयोजित इस पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में पुस्तक परिचय विभाग सम्पर्क प्रमुख बिहारी लाल द्विवेदी, एकलगीत आकाश खत्री, कार्यक्रम का संचालन जिला सम्पर्क प्रमुख रितेश अग्रवाल एवं आभार प्रदर्शन साजिश यादव ने किया। इस दौरान नगर संघचालक रामेश्वर अग्रवाल सहित संघ के स्वयंसेवक एवं नगर के प्रबुद्धजन उपस्थित रहे।