मप्र के रीवा, शहडाेल, जबलपुर एवं सागर संभागाें के जिलाें में झमाझम वर्षा का दौर शुरू हाेने के आसार

Scn news india
 भाेपाल में रुक-रुककर हो सकती है वर्षा, गर्मी से मिलेगी राहत
 भाेपाल। गर्मी से परेशान भोपालवासियों के लिए राहत की खबर ये है कि कुछ क्षेत्रों में गरज-चमक के साथ वर्षा हो सकती है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि दक्षिणी छत्तीसगढ़ एवं उसके आसपास हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बन गया है। इसके अलावा दक्षिण-पूर्वी मध्य प्रदेश से लेकर तमिलनाडु तक एक ट्रफ लाइन बनी हुई है। इन दाे मौसम प्रणालियाें के असर से साेमवार से पूर्वी मप्र के रीवा, शहडाेल, जबलपुर एवं सागर संभागाें के जिलाें में झमाझम वर्षा का दौर शुरू हाेने के आसार हैं। वहीं भाेपाल, इंदौर, नर्मदापुरम एवं उज्जैन संभागाें के जिलाें में कहीं-कहीं वर्षा हाेगी।
वैसे तापमान की बात करें तो भले ही राजधानी में गर्मी बहुत महसूस हो रही है, लेकिन तापमान दो दिनों में कम ही हुआ है। शनिवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 33.3 डिग्री सेल्सियस था। रविवार को यह 31.4 डिग्री सेल्सियस पहुंचा। वहीं शनिवार, रविवार और सोमवार के रात के 4 बजे के तापमान की तुलना करें, तो सोमवार को तापमान अन्य दो दिनों की तुलना में सबसे कम 27.4 डिग्रीसे. था।
नमी से हो रही वर्षा
मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक मानसून ट्रफ अभी भी हिमालय में बना हुआ है, लेकिन अलग-अलग स्थानाें पर बनी मौसम प्रणालियाें के कारण मिल रही नमी से वर्षा हाे रही है। इस सीजन में रविवार सुबह साढ़े आठ बजे तक मप्र में 976.8 मिमी. वर्षा हाे चुकी है, जाे सामान्य वर्षा (816 मिमी.) की तुलना में 20 प्रतिशत अधिक है। हालांकि अभी भी रीवा, सीधी, दतिया, झाबुआ एवं आलीराजपुर में सामान्य से कम वर्षा हुई है। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक दक्षिणी छत्तीसगढ़ एवं उसके आसपास हवा के ऊपरी भाग में बने चक्रवात के कारण साेमवार से रीवा, शहडाेल, जबलपुर, सागर संभागाें के जिलाें में वर्षा का दौर शुरू हाेने के आसार हैं। कहीं-कहीं भारी वर्षा भी हाे सकती है। उधर दक्षिण-पूर्वी मध्य प्रदेश से लेकर तमिलनाडु तक बनी ट्रफ लाइन के कारण भी नमी मिल रही है। इस वजह से भाेपाल, इंदौर, नर्मदापुरम एवं उज्जैन संभागाें के जिलाें में भी गरज–चमक के साथ वर्षा हाेने का सिलसिला बना रहेगा।