थाना महाराजपुर पुलिस ने किया अंधे हत्याकांड का खुलासा , दो आरोपी गिरफ्तार

Scn news india

योगेश चौरसिया 

घटना का विवरण:- दिनांक 13.08.2022 को ग्राम धौरानाला का मरघटाई नाला के पानी में एक व्यक्ति के डूबने की सूचना प्राप्त होने पर घटना स्थल पहुंच प्रार्थिया पुष्पा धुर्वे पति देवेन्द्र धुर्वे उम्र 40 वर्ष बगीचा टोला धौरानाला थाना महाराजपुर की रिपोर्ट पर शव पंचनामा कार्यवाही कर थाना महाराजपुर में मर्ग क्रमांक 65/22 धारा 174 जाफौ . कायम कर जांच में लिया गया। जांच दौरान मृतक के परिजन पत्नी पुष्पा बाई धुर्बे , पुत्री, छोटा भाई मान सिह धुर्बे के पूरक कथन एंव शिकायत पत्र में दर्शित स्वतंत्र साक्षी के कथन , मर्ग इंटीमेशन , निरीक्षण घटनास्थल शव पंचनामा कार्यवाही, मर्ग जांच में पाये गये परिस्थितजन साक्ष्यों मृतक की पत्नि द्वारा प्रस्तुत शिकायत पत्र के अवलोकन पर मृतक देवेन्द्र धुर्बे की संदेही पतिराम मरावी से पुरानी रंजिश के होने की जानकारी प्राप्त हुई। जांच के दौरान पता लगा की घटना दिनांक 07/08/2022 को मृतक देवेन्द्र उर्फ पंडा गांव के अन्य व्यक्ति के साथ राजेश के घर से दारू पीने गये थे। जो घर जाते समय मृतक द्वारा पतीराम मरावी को पुरानी रंजिश को लेकर गालीगलौज और धमकी देने की बात सामने आई। प्राप्त जानकारी व साक्ष्य के आधार पर पतीराम मरावी की गतिविधियां संदेह के दायरे में थी जिस आधार पर आरोपी पतिराम मरावी एवं गोविंद पिता बारेलाल मरावी से थाना महाराजपुर पुलिस टीम द्वारा बारीकी से पूछताछ की गई। आरोपी पतिराम ने अपना जुर्म स्वीकार करते हुए घटना के संबंध में बताया कि दिनांक 7 अगस्त को मृतक अपने घर जाते समय मुझे गालीगलौज करते हुए मारने की धमकी दे रहा था। जिससे मैने एवं गोविन्द मरावी के साथ मिलकर दोनों ने मारने की नियत से डंडे, लातो से मारपीट कर मृतक देवेन्द्र धुर्वे उर्फ दानू पंडा पिता स्व रामप्रसाद धुर्वे उम्र 44 वर्ष नि . बगीचा टोला को अधमरा कर दिया और धौरानाला के नाला के पानी में ले जाकर फेक दिया ताकि कोई देख ना सकें। आरोपी पतिराम पिता झाडुलाल मरावी उम्र 46 वर्ष नि . धौरानाला मालीमोहगांव थाना महाराजपुर व गोविंद पिता बारेलाल मरावी उम्र 47 वर्ष नि . धौरानाला मालीमोहगांव थाना महाराजपुर का कृत्य प्रथमदृष्टया अपराध धारा 302 , 201 , 34 ताहि का घटित करना पाये जाने से थाना महाराज महाराजपुर में अपराध क्रमांक 440 / 22 धारा 302,201 , 34 ताहि का कायम कर विवेचना में लिया गया। दौरान विवेचना के आरोपियों की तलाश पतासाजी कर पूंछतांछ किया गया जिन्होने अपना जुर्म कबूल किया जिन्हे गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय पेश किया गया ।

विशेष भूमिका– उपरोक्त सभी कार्यवाही में निरीक्षक रामेश्वर ठाकुर थाना प्रभारी महाराजपुर , उनि बरन सिंह परते , आशुतोष शर्मा , सउनि . रमेश पाल , चित्रराज बागड़े , नरेन्द्र उइके , प्र.आर.जैनसिंह , आर . प्रकाश की भूमिका अहम रही ।