MP Weather: 8 को एक्टिव होगा नया सिस्टम, 6 जिलों-7 संभागों मे बारिश की चेतावनी, जानें मौसम विभाग का पूर्वानुमान

Scn news india
मध्यप्रदेश / भोपाल- शनिवार 3 सितंबर को सभी संभागों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना है। रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, शहडोल और बालाघाट में भारी बारिश की चेतावनी जारी करते हुए येलो अलर्ट जारी किया गया है।
भोपाल। मध्य प्रदेश के मौसम में बदलाव का दौर जारी है। ला नीना के असर से प्रदेश में एक बार फिर बारिश का दौर शुरू हो सकता है। इधर, 8 सितंबर को एक नया सिस्टम एक्टिव हो रहा है, जिसका कई जिलों में असर देखने को मिलेगा। एमपी मौसम विभाग (MP Weather Department) ने आज शनिवार 3 सितंबर 2022 को सभी संभागों में गरज चमक के साथ बारिश की चेतावनी जारी की है। वही 6 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है, वही 23 जिलों में बिजली गिरने की चेतावनी जारी की है।
एमपी मौसम विभाग ने आज शनिवार 3 सितंबर को सभी संभागों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना है। रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, शहडोल और बालाघाट में भारी बारिश की चेतावनी जारी करते हुए येलो अलर्ट जारी किया गया है। वही इंदौर, जबलपुर, भोपाल, रीवा, शहडोल,नर्मदापुरम और सागर संभाग में कुछ स्थानों पर गरज चमक के साथ बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वही उज्जैन, ग्वालियर और चंबल संभाग में कहीं कहीं बारिश के आसार है। वही शहडोल, नर्मदापुरम, रीवा और चंबल संभाग के साथ कटनी,गुना, विदिशा, रायसेन, देवास, दमोह, सागर, बालाघाट, सिवनी और छिंदवाड़ा में बिजली गिरने और चमकने की चेतावनी जारी की गई है।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, मानसून ट्रफ लाइन पंजाब से होते हुए गुजर रही है। यह फिर से हिमालय की तराई की ओर जा रही है, लेकिन बंगाल की खाड़ी के सक्रिय होने पर यह दक्षिण की ओर खिसकेगी। इसके नीचे आने पर हवा में नमी बढ़ेगी।जबलपुर सहित संभाग के जिलों में सितंबर के दूसरे सप्ताह तक मौसम के ऐसे ही बने रहने के आसार है।ग्वालियर-चंबल संभाग में दूसरे व तीसरे सप्ताह में हल्की से मध्यम वर्षा का एक दौर और आएगा। दो सप्ताह होने वाले इस बारिश से सितंबर का कोटा पूरा होने का अनुमान है। तीसरे सप्ताह के बाद मानसून की विदाई शुरू हो जाएगी।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, सितंबर में ला नीना सिस्टम के कारण उज्जैन को छोड़कर भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर समेत प्रदेशभर में सामान्य से ज्यादा बारिश हो सकती है। सितंबर महीने में सामान्य से 9% ज्यादा बारिश होने की संभावना है। सितंबर के पहले सप्ताह में कम लेकिन दूसरे और तीसरे सप्ताह में मानसून की गतिविधियां तेज होंगी।वही 8 सितंबर को बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र विकसित हो रहा है, इससे दूसरे व तीसरे सप्ताह में दक्षिण व उत्तरी हवा के टकराने से हल्की से मध्यम वर्षा का दौर चलेगा।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, मानसून की विदाई सिंतबर के अंतिम सप्ताह में शुरू हो जाएगी। प्रदेश में ग्वालियर व चंबल संभाग में मानसून की विदाई होगी। मध्यप्रदेश में 1 जून से अब तक करीब 39 इंच बारिश हो चुकी है। यह सामान्य से 21% ज्यादा है। सामान्य तौर पर इस दौरान 32 इंच बारिश होती है। मढ़ीखेड़ा डैम के गेट खोलने से भिंड की सिंध नदी में एक बार फिर से जलस्तर बढ़ने के आसार हैं और रात्रि के समय नदी का जलस्तर बढ़ने के आसार है।