विंध्य के चित्रकूट में भगवान श्रीराम की लड़ाई लड़ेंगे नारायण त्रिपाठी

Scn news india

दिवाकर पांडेय 
मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी ने अपने जारी वक्ताव्यो में कहा कि भगवान श्री राम का जन्म अयोध्या में हुआ लेकिन भगवान की कर्मस्थली चित्रकूट थी जहां भगवान श्रीराम से मर्यादा पुरुषोत्तम कहलाये। इसलिए चित्रकूट का विकास  अयोध्या की तर्ज पर होना चाहिए। इस धाम में भी भगवान का भव्य मंदिर बनना चाहिए व वनवासी स्वरूप की दिव्य प्रतिमा स्थापित करते हुए सर्वांगीण विकास  होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी भी इसकी पक्षधर है। चित्रकूट धाम में भगवान की कोई भी यादें मिटने नही दी जाएगी चाहे वह सिद्धा पहाड़ का मामला हो या कोई अन्य। भगवान श्रीराम से जुड़ी कोई भी पहचान चाहे वह उत्खनन से जुड़ी हो या विकाश से पूरी लड़ाई पुरजोर तरीके से लड़ने के लिए हम तैयार है। चित्रकूट का विकाश अयोध्या की तर्ज पर करना पड़ेगा इसके लिए विंध्य के लोगो को साथ ले साधु संतों का आशीर्वाद ले आवाज बुलंद की जाएगी। तत्काल प्रभाव से सिद्धा पहाड़ में स्वविकृत की जाने वाली लीज निरस्त की जाय साथ ही चित्रकूट के विकाश का मास्टरप्लान तैयार किया जाय अन्यथा बड़े आंदोलन की रूपरेखा बनाई जाएगी।