MP Weather: कई वेदर सिस्टम एक्टिव, 4 जिलों और 7 संभागों में बारिश की चेतावनी, जानें मौसम विभाग का पूर्वानुमान

Scn news india
चक्रीय चक्रवाती घेरे के प्रभाव से अब तक बुंदेलखंड-बघेलखंड और जबलपुर में बारिश करा रहे बादल मंगलवार को भोपाल, मालवा-निमाड़ की तरफ शिफ्ट होंगे।
भोपाल। मध्य प्रदेश के मौसम में लगातार बदलाव देखने को मिल रहे है। अलग अलग स्थानों पर एक्टिव मौसम प्रणालियों के चलते वातावरण में नमी बढ़ रही है और बारिश हो रही है। वही नए चक्रीय चक्रवाती घेरे का असर जबलपुर संभाग में देखने को मिल रहा है।एमपी मौसम विभाग ने आज मंगलवार 30 अगस्त 2022 को सभी संभागों में गरज चमक के साथ बारिश की चेतावनी जारी की है। वही 4 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है, वही 20 जिलों में बिजली गिरने की चेतावनी जारी की है।
एमपी मौसम विभाग ने आज मंगलवार 30 अगस्त को सभी संभागों में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना है। राजगढ़, सीहोर, शाजापुर और देवास में भारी बारिश की चेतावनी जारी करते हुए येलो अलर्ट जारी किया गया है।इंदौर, जबलपुर, भोपाल, रीवा, शहडोल,नर्मदापुरम और सागर संभाग में अनेक स्थानों पर और उज्जैन, ग्वालियर और चंबल, संभाग में कुछ स्थानों पर गरज चमक के साथ बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वही भोपाल संभाग के साथ श्योपुर, बैतूल, ग्वालियर, शिवपुरी,छिंदवाड़ा, जबलपुर, सागर,शाजापुर, दमोह, देवास, नरसिंहपुर, छतरपुर,सिवनी, कटनी और नर्मदापुरम में बिजली गिरने और चमकने की चेतावनी जारी की गई है।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, चक्रीय चक्रवाती घेरे के प्रभाव से अब तक बुंदेलखंड-बघेलखंड और जबलपुर में बारिश करा रहे बादल मंगलवार को भोपाल, मालवा-निमाड़ की तरफ शिफ्ट होंगे। इंदौर, उज्जैन, गुना, समेत मालवा-निमाड़ में रिमझिम बारिश के आसार हैं। इसके साथ ही मध्यप्रदेश में 2 सितंबर तक गरज चमक के साथ बारिश का दौर जारी रह सकता है।नर्मदापुरम, ग्वालियर, चंबल, रीवा, सागर, शहडोल, इंदौर, उज्जैन और चंबल में कहीं-कहीं गरज-चमक हो सकती है।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, वर्तमान में मानसून हिमालय में पहुंच गया है। उधर तमिलनाडु में हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। इस चक्रवात से लेकर पश्चिमी विदर्भ तक एक द्रोणिका लाइन बनी हुई है। एक पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान एवं उससे लगे जम्मू-कश्मीर पर ट्रफ के रूप में मौजूद है। इन वेदर प्रणालियों के चलते नमी बढ़ रही है और भोपाल, इंदौर, जबलपुर, नर्मदापुरम संभागों के जिलों में बारिश का दौर चल पड़ा है। सितंबर माह में 15 दिन तक वर्षा की गतिविधियां छुटपुट जारी रहेगी, इसके बाद मानसून विदा हो सकता है।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, 30 से 31 अगस्त को हल्की बारिश होगी और सितंबर में नया कम दवाब का क्षेत्र बनने पर वर्षा की संभावना रहेगी। 15 सितंबर तक एक बार ओर मानसून सक्रीय हो सकता है। बारिश व गरज के साथ बौछारे इंदौर के अलावा इंदौर, चंबल, उज्जैन, ग्वालियर, नर्मदापुरम और भोपाल इलाकों में हो सकती है और हवाएं 18 से 20 किमी प्रतिघंटे से चलेगी।ग्वालियर में 30 अगस्त को भी बादल छाए रहेंगे और बूंदाबांदी की संभावना है।
पिछले 24 घंटे का हाल
पिछले 24 घंटों के दौरान मंगलवार सुबह साढ़े आठ बजे तक जबलपुर में 49.2, नर्मदापुरम में 32, नौगांव में 25.2, रीवा में 13.2, रायसेन में 12, सीधी में 7.6, पचमढ़ी में 7.4, दतिया में 4.4, नरसिंहपुर में चार, बैतूल में 3.4, खजुराहो में 2.6, गुना में 2.4, खंडवा में 1.2, सागर में एक, भोपाल शहर में 0.8, इंदौर में 0.1 मिलीमीटर वर्षा हुई।