कटनी में शुरू हुईं गणेशोत्‍सव की तैयारियां, मूर्तिकार बना रहे प्रतिमाएं

Scn news india

संवाददाता सुनील यादव 

कटनी में शुरू हुईं गणेशोत्‍सव की तैयारियां, मूर्तिकार बना रहे प्रतिमाएं

करोना से 2 वर्षों में मूर्तिकारों को हुई व्यवसायिक क्षति इस बार उम्मीद अच्छी,

कटनी। 10 दिवसीय गणेश उत्सव पर्व की तैयारियां कटनी शहर में शुरू हो चुकी है।कोरोना के कारण आगामी गणेशोत्सव के लिए भगवान गणेश की छोटी मूर्तियां ही अधिक संख्या में बनाई जा रही हैं। छोटी मूर्तियों में रंग भरे जाने लगे हैं। कटनी से आसपास के शहरों में जाने वाली मूर्तियां समय पर पहुंच जाएं, इसलिए शहर के मूर्तिकार अलग-अलग स्थानों पर मूर्तियां बना रहे हैं। जिला प्रशासन ने अब तक इस बारे में कोई गाइडलाइन नहीं बनाई है कि मूर्तिकार कितनी ऊंचाई की मूर्तियां बना सकते हैं। अधिकांश मूर्तिकार गणेशजी की छोटी मूर्तियां ही बना रहे हैं। 10 से 15 फीट ऊंची मूर्तियां बनाने से बच रहे हैं।

बरही रोड, प्रेम नारायण समाज भवन कटनी में पिछले 25 वर्षों से कोलकाता से कटनी आकर गणेश और दुर्गा प्रतिमाएं बनाने वाले मूर्तिकार राजू पाल का कहना है कि कुछ साल पहले गणेशोत्सव के लिए बड़ी मूर्तियां बना ली थीं, लेकिन बाद में प्रशासन ने पांच से छह फीट की गणेशजी की मूर्तियां बनाने के निर्देश दिए थे, लेकिन मूर्तियां बन चुकी थीं और गणेशोत्सव समितियों ने बड़ी मूर्तियां नहीं खरीदीं।

राजू पाल मूर्तिकार

इससे मूर्तिकारों को बहुत नुकसान हुआ था। उनका कहना हैं कि समितियों के ऑर्डर आने पर ही बड़ी मूर्तियां बनाई है।मूर्तिकार मिट्टी की मूर्तियां बना रहे हैं। पहले बांस, घास व सुतली से ढांचा तैयार किया जाता है। उसके बाद मिट्टी व प्लास्टिक ऑफ पेरिस से मूर्तियां बनती हैं। मूर्तिकार राजू पाल ने बताया कि कोरोना की वजह से पिछले 2 वर्षों मे इस व्यवसाय को बहुत अधिक नुकसान पहुंचा है। 2 वर्षों के बाद अब मूर्तियों के आर्डर भी अच्छे मिले हैं। लगभग 150 मूर्ति शहर और आसपास के शहरों के अलावा कटनी जिले के ग्रामीण अंचलों में स्थापित की जाएगी।