अटेर किले के अंदर पानी और चिलोंगा गांव में चंबल का पानी घुस

Scn news india

पिंटू तोमर

भिंड अटेर किला में पानी अंदर और तेहसील के चिलोंगा गांव के अंदर चंबल का पानी घुस आया है। गांव का शासकीय माध्यमिक विद्यालय पानी में घिर गया है । लगभग 6-7 फीट पानी विद्यालय भवन को घेरे हुए है। गांव के हरज्ञान सिंह भदौरिया ने बताया कि उनके ध्यान में पहली बार चंबल इतने उफान पर आई है।

उधर चिलोंगा गांव के श्री गिरधारी मठ आश्रम को भी चंबल नदी ने पूरी तरह से अपने आगोश में ले लिया है। आश्रम के मुख्य मंदिर के अंदर तक पानी पहुंच गया है । आश्रम का कुआं पूरी तरह बाढ़ के पानी में डूब गया है। आश्रम पर महंत अवधूत हरी महाराज निवास और संत दिलीप दास के अलावा दो अन्य लोग भी रुके हुए हैं । अभी उक्त सभी लोग मंदिर की सबसे ऊपर वाली छत पर आश्रय लिए हुए हैं लेकिन उनको भी खतरा बना हुआ है। अगर चंबल नदी का पानी इसी तरह बढ़ता रहा तो मंदिर भी डूब में आ सकता है तथा चिलोंगा गांव भी डूब की स्थिति में पहुंच सकता है।