मध्‍य प्रदेश में फिर बारिश के आसार, मौसम विभाग ने बतायी वजह

Scn news india
  • मध्य प्रदेश में एक बार फिर बारिश का मौसम शुरू हो सकता है।
  •  मौसम प्रणाली के प्रभाव से शुक्रवार से जबलपुर शहडोल संभाग के जिलों में बारिश शुरू हो सकती है। 
  • चक्रवात के शुक्रवार को कम दबाव के क्षेत्र में तेज होने की संभावना है।
  • मध्य प्रदेश में एक बार फिर बारिश का मौसम शुरू हो सकता है।
भोपाल। मध्य प्रदेश के ऊपर एक सक्रिय निम्न दबाव का क्षेत्र राजस्थान पहुंच गया है। इससे अधिकांश जिलों में बारिश का सिलसिला थम गया है। हालांकि, मौसम विज्ञानियों का कहना है कि इस समय बंगाल की खाड़ी में हवा के ऊपरी हिस्से में एक चक्रवात बना है। यह मौसम प्रणाली शुक्रवार को कम दबाव के क्षेत्र में तेज होने की संभावना है।
इसके प्रभाव से मध्य प्रदेश में एक बार फिर बारिश का मौसम शुरू हो सकता है। वहीं, बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े छह बजे तक उज्जैन में पांच, रतलाम में तीन, जबलपुर में 2.4, खरगोन में दो, भोपाल में 0.6, बैतूल में 0.4, धार में 0.3 मिमी बारिश दर्ज की गई।
बुधवार को खिली रही धूप
मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार मध्य प्रदेश में तीन दिनों तक सक्रिय रहने के बाद कम दबाव का क्षेत्र फिलहाल दक्षिण-पश्चिम राजस्थान में पहुंच गया है और गहरे निम्न दबाव का क्षेत्र बन गया है। कम दबाव का क्षेत्र राजस्थान की ओर जाने से वातावरण में नमी कम होने लगी है।
बादल छंटने लगे हैं। मानसून ट्रफ भी ग्वालियर से गुजर रही है। भोपाल समेत कई जिलों में बुधवार को धूप खिली रही। इससे लोगों को थोड़ी राहत मिली। वीरवार को भी पूरे राज्य में मौसम का मिजाज ऐसा ही रहने की संभावना है।
म्यांमार के ऊपर बना चक्रवात
मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने कहा कि वर्तमान में मानसून ट्रफ राजस्थान में बने गहरे निम्न दबाव के क्षेत्र से होते हुए जयपुर, ग्वालियर, वाराणसी, मालदा, मणिपुर होते हुए बंगाल की खाड़ी तक जा रही है। अरब सागर में हवा के ऊपरी हिस्से में एक चक्रवात बना रहता है।
एक अपतटीय ट्रफ रेखा गुजरात तट से महाराष्ट्र तट तक फैली हुई है। इसके अलावा बंगाल की खाड़ी में म्यांमार के ऊपर हवा के ऊपरी हिस्से में एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। चक्रवात के शुक्रवार को कम दबाव के क्षेत्र में तेज होने की संभावना है। इस मौसम प्रणाली के प्रभाव से शुक्रवार से जबलपुर, शहडोल संभाग के जिलों में बारिश शुरू हो सकती है।