मेरा संकल्प है कि प्रदेश में हम अनाथ शब्द नहीं रहने देंगे – मुख्यमंत्री श्री चौहान

Scn news india

मनोहर

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रेम, स्नेह और आत्मीयता का अद्भुत त्यौहार राखी हमें आश्वस्त करता है कि हम अकेले नहीं हैं। कोविड महामारी के दौरान कई बच्चों को माता-पिता अकेले छोड़ कर चले गए। पिछली दीवाली हमनें इन सब बच्चों के साथ मुख्यमंत्री निवास में मनाई थी। इस वर्ष हम राखी साथ मना रहे हैं। तुम्हारे मामा, राज्य सरकार और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का आशीर्वाद आप सबके साथ है। मेरा यह संकल्प है कि प्रदेश में हम अनाथ शब्द नहीं रहने देंगे। बच्चों आप अपने आप को कभी अकेला मत समझना। दुनिया में बहुत से महापुरूष ऐसे हुए हैं, जिन्होंने बचपन में ही अपने माता-पिता को खो दिया और कई कठिनाइयों का सामना किया, लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। जीवन में कठिनाइयों का सामना करते हुए उपलब्धियाँ अर्जित की और अपना नाम, कार्य तथा विचार स्थापित किए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान “मेरी राखी शिवराज मामा के घर” मनाने मुख्यमंत्री निवास आए बच्चों से चर्चा कर रहे थे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कोविड-19 बाल कल्याण योजना, बाल निकेतन, एसओएस ग्राम, आरुषि बालिका गृह, पश्चातवर्ती गृह और नित्य सेवा सोसायटी के बच्चे शामिल हुए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इन बच्चों का लाड़-प्यार और आशीर्वाद के साथ स्वागत किया। मुख्यमंत्री निवास पधारे सभी बच्चों के हाथ में राष्ट्रीय ध्वज था। श्रीमती साधना सिंह, श्री जामवाल तथा श्री हितानंद शर्मा भी उपस्थित थे।