प्रकृति द्वारा प्रदत्त वेदना की अभिव्यक्ति का माध्यम होते हैं पत्रकार – विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम

Scn news india

कामता तिवारी
संभागीय ब्यूरो रीवा
Scn news india

समाजसेवी एवं पत्रकार सुभाष श्रीवास्तव के जन्म दिवस पर कोरोना वारियर्स
पत्रकारों का सम्मान समारोह संपन्न

रीवा -प्रकृति द्वारा प्रदत्त वेदना की अभिव्यक्ति का माध्यम पत्रकार होते हैं। इनकी वाणी व लेखनी समाज को नई दिशा देने का कार्य करती है। लोकतंत्र के इस चौथे स्तंभ ने कोरोनाकाल के विषम समय में अपनी जिम्मेदारी का पूरी निष्ठा से निर्वहन किया उसकी जितनी प्रशंसा की जाय वह कम है। उक्त आशय के उद्गार विधानसभा अध्यक्ष श्री गिरीश गौतम ने आज समाजसेवी, मीसाबंदी एवं पत्रकार सुभाष श्रीवास्तव के 66वें जन्म दिवस पर आयोजित कोरोना वारियर्स पत्रकार सम्मान समारोह को मुख्य अतिथि के तौर पर संबोधित करते हुए व्यक्त किये। उन्होंने सुभाष श्रीवास्तव जी को जन्म दिवस की शुभकामना दी।
रीवा शहर के विभिन्न सामाजिक एवं स्वैच्छिक संगठनों के संयुक्त तत्वाधान में स्वयंवर विवाह घर में आयोजित सम्मान समारोह में विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि वर्तमान समय में समाज में सबसे बड़ा संकट विश्वास का है। लोग किसी भी कार्य को सार्टकट करने का प्रयास करते हैं इस आदत को बदलना होगा और इसमें मुख्य भूमिका मीडिया जगत से जुड़े लोगों की है। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि नये युग एवं नये समाज को प्रेरणा दें तथा समाज में फैली विकृति को दूर करने का प्रयास करें। उन्होंने भारतीय संस्कृति को बचाने के लिये समवेत होकर कार्य करने का आह्वान किया। श्री गौतम ने कहा कि कोरोनाकाल में बिछडे व अन्य पत्रकार जो अब इस दुनिया में नहीं हैं उन पर एक पुस्तिका का प्रकाशन हो जिसमें उनके व्यक्तित्व व कृतित्व का रेखांकन किया जाय।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सिरमौर विधायक श्री दिव्यराज सिंह ने कहा कि मीडिया के साथी समाज को आइना दिखाते हैं चौथे स्तंभ की स्वतंत्रता से ही हमारा लोकतंत्र सुदृढ़ हुआ है और आगे बढ़ा है। उन्होंने समाजसेवी सुभाष श्रीवास्तव जी के योगदान की चर्चा की तथा उन्हें शुभकामना दी। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार सुभाष श्रीवास्तव ने कहा कि यह अवसर इन नि:स्वार्थ लोगों को सम्मानित करने का है जिन्होंने कोरोनाकाल में अपनी परवाह न करते हुए अपनी जिम्मेदारी निभाई। उन्होंने कहा कि नि:स्वार्थ भाव से की गई सेवा का प्रतिफल सुखदाई होता है। उन्होंने कहा कि जन्म दिवस पर लोगों का आशिर्वाद उन्हें संबल देता है और समाजसेवा करने का मार्ग प्रशस्त करता है। कार्यक्रम को समाजसेवी डॉ. मुजीब खान ने भी संबोधित किया।
इस अवसर पर जिले के पत्रकारों को शाल श्रीफल एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। राष्ट्रगीत के गायन के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। स्वागत उद्बोधन राजराखन पटेल ने दिया। इस दौरान वृहस्पति सिंह, कविता पाण्डेय, महाराजा ग्रुप के देवेन्द्र सिंह सहित बड़ी संख्या में संभ्रात जन, पत्रकार, स्वंयसेवी संगठनों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का सफल संचालन सिद्धार्थ श्रीवास्तव ने किया।