जनपद पंचायत भैंसदेही में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद पर भाजपा की ऐतिहासिक जीत

Scn news india

धनराज साहू ब्यूरो रिपोर्ट

  • जनपद पंचायत भैंसदेही में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद पर भाजपा की ऐतिहासिक जीत।
  • भाजपा समर्थित यशवंती धुर्वे अध्यक्ष एवं पवन परते उपाध्यक्ष पद पर हुए निर्वाचित।

भैंसदेही:- जनपद पंचायत भैंसदेही में अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद पर हुए निर्वाचन में भाजपा की श्रीमती यशवंती संजय धुर्वे निर्विरोध रूप से निर्वाचित घोषित की गई। जनपद के कुल 21 सदस्यों में से भाजपा के पास 18 एवं कांग्रेस के पास मात्र तीन सदस्य थे। भाजपा के नर्मदापुरम संभाग के चुनाव प्रभारी एवं पूर्व सांसद हेमंत खंडेलवाल पूरे समय भैंसदेही में मौजूद रहे तथा उन्ही के मार्गदर्शन में भाजपा ने विजय श्री हासिल की।श्री खंडेलवाल की प्रमुख उपस्थिति में जनपद सदस्यों के बीच अध्यक्ष के लिए श्रीमती यशवंती धुर्वे के नाम पर सहमति बनी। कांग्रेस की ओर से जनपद अध्यक्ष के पद हेतु कोई नाम निर्देशन पत्र जमा नहीं किया गया था। जिसके चलते श्रीमती यशवंती संजय धुर्वे निर्विरोध रूप से जनपद अध्यक्ष चुनी गई।

जनपद उपाध्यक्ष के लिए पूर्व में भाजपा के वरिष्ठ नेता श्री ऋषभदास सावरकर का नाम प्रमुखता के साथ सबसे आगे चल रहा था उसी बीच श्रीमती स्वाति मनीष राठौर एवं राजा घोड़की की भी उपाध्यक्ष पद पर दावेदारी सामने आ गई जिससे भाजपा में उपाध्यक्ष पद को लेकर पेंच फंस गया। भाजपा में 3 दावेदारिया सामने आने पर कांग्रेसियों में खुशी की लहर दिखने लगी थी।

स्थिति को भांपते हुए पूर्व सांसद हेमंत खंडेलवाल एवं पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष अनिल सिंह ठाकुर ने तीनों दावेदार ऋषभदास सावरकर, श्रीमती स्वाति मनीष राठौर एवं राजा घोड़की से बन रही परिस्थितियों पर विस्तृत चर्चा कर आपसी सहमति बनाने में सफलता प्राप्त की। तीनों ही दावेदारों ने राजी खुशी के साथ आदिवासी जनपद सदस्य पवन परते के नाम पर सहमति व्यक्त की जिसका भाजपा समर्थित सभी जनपद सदस्यों के द्वारा समर्थन किया गया। भाजपा नेता ऋषभदास सावरकर को उपाध्यक्ष नहीं बनते देख उनके समर्थक जरूर नाराज हो चुके थे किंतु उन्हें ऋषभदास सावरकर द्वारा समझाने पर वे मान गए।

इस दौरान ऋषभदास सावरकर की महानता देखने को मिली। जिसकी भाजपा संगठन एवं कार्यकर्ताओं ने भी प्रशंसा की। इस प्रकार उपाध्यक्ष पद पर आया संकट पूर्व सांसद हेमंत खंडेलवाल के हस्तक्षेप से टल गया। इधर भाजपा में मचे बवाल से कांग्रेस को फायदा होने की पूरी उम्मीद थी। क्रॉस  वोटिंग की उम्मीद को लेकर कांग्रेस की ओर से प्रशांत वागद्रे का नाम निर्देशन पत्र उपाध्यक्ष पद पर भरा गया। उपाध्यक्ष पद पर भाजपा के पवन परते एवं कांग्रेस के प्रशांत वागद्रे के बीच हुए मुकाबले में भाजपा समर्थित पवन परते को 18 एवं कांग्रेस समर्थित प्रशांत वागद्रे को मात्र 3 वोट प्राप्त हुए और भाजपा ने उपाध्यक्ष पद पर भी विजयश्री प्राप्त की। इस प्रकार जनपद पंचायत भैंसदेही में अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद पर भाजपा ने विजय का परचम लहराते हुए ऐतिहासिक जीत दर्ज की। शांतिपूर्वक निर्वाचन संपन्न होने पर पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष अनिल सिंह ठाकुर, पूर्व नगर परिषद उपाध्यक्ष ऋषभदास सावरकर, भाजपा जिला उपाध्यक्ष देवीसिंह ठाकुर एवं भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष मनीष सोलंकी ने पूर्व सांसद हेमंत खंडेलवाल सहित सभी जनपद सदस्यों एवं भाजपा कार्यकर्ताओं के प्रति आभार जताया। भाजपा की ऐतिहासिक जीत पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने खुशी का इजहार करते हुए पटाखे फोड़ कर एवं मिठाई बांटकर एक दूसरे को बधाई दी।