कांग्रेस भाजपा का आंदोलन बताकर कुछ लोग कर रहे दिग्भ्रमित

Scn news india


सारनी।।शहर के वर्चस्व को बचाने के लिए सारनी बचाओ संघर्ष समिति के द्वारा आयोजित 3 दिवसीय प्रदर्शन को कुछ लोग कांग्रेस,भाजपा का बताकर दिग्भ्रमित करने का कार्य कर रहे है। संघर्ष समिति के वरिष्ठ श्यामसुंदर ओझा, वैभव सोनी, एवं हनुमान चालीसा मंडल के अध्यक्ष संजय झरबड़े ने बताया की वैसे तो पूरे आयोजन मे सभी संगठनों के अलावा आम-जनमानस का सहयोग रहा है। उन्होंने बताया की वैसे तो पूरे आयोजन मे अधिकतर भाजपा समर्थक ही थे,तो फीर क्या वास्तव मे पूरा आयोजन भाजपा का हुआ।उनका मानना है की जनप्रतिनिधि शहर मे उधोग-धंधे स्थापित करने का कार्य कर रहें है।वह कछुआ गति से भी धिमी है,जिसके कारण यह आंदोलन के माध्यम से अगर उन जनप्रतिनिधियों के द्वारा शहर मे उधौग-धंधे स्थापित कर स्थानीय लोगो को रोजगार देने की मंशा है,तो वह अपने कार्य की गति बढाले,अगर उस दिशा मे नही सोचा है,तो शीघ्र सोचकर कार्य करे
पूरे जिले को पोषण देने वाला मध्यप्रदेश का पहला ऐसा शहर जो कुछ वर्षों मे हो जाएगा विराण।
संघर्ष समिति के वरिष्ठ एवं पाथाखेड़ा व्यापारी संघ के अध्यक्ष भरत अरोरा एवं वरिष्ठ व्यापारी आशीष साहू ने बताया की,पूरे जिले मे आर्थिक रूप से उर्जा का संचार करने वाला शहर राजनेताओं की अनदेखी के कारण कंगाली की और अग्रसर है।ऐसे मे सभी को पार्टि,समाज,और व्यक्तिगत स्वार्थों को परे रखकर नगर हित मे सोचने और कार्य करने के लिए एकसाथ होना चाहिए।यह समिति केवल शहर मे नये उधौग,व स्थानीय लोगो को रोजगार मिले इस उद्देश्य को बनाकर कार्य कर रही है। शोभापुर व्यापारी संघ के वरिष्ठ व्यापारी राजू आहूजा एवं संघ के संरक्षक रहे वीरेंद्र सोलंकी ने बताया की यह शहर पुन:अपने नये आयामो को प्राप्त कर पूरे जिले को पोषण और उर्जा का संचार कर सकता है इसलिए वर्तमान राजनेताओं का ध्यान आर्कषण कराकर नये उधोग शीघ्र स्थापित कराने व लोगो को रोजगार मिले इस हेतु से समिति कार्य कर रही है।जिसमे सभी को अपनी-अपनी सज्ञ:भागिता निभाना है।
समिति से जुड़े बगडोना व्यापारी संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी बबलू रघुवंशी एवं मिथिलेश रघुवंशी ने कहा कि पूरे जिले के व्यापारी संघों का समिति को समर्थन मिल रहा है एवं
सारनी बचाओ संघर्ष समिति ने क्षेत्र मे पुन: नये उधौग -धंधे और रोजगार को लेकर राजनेताओं के चेताते हुए,पुरे जिले मे आर्थिक रूप से उर्जा का संचार देने वाले इस शहर को बचाने के लिए अपना सहयोग देने की अपिल की है।समिति का मानना है,की अभी समय रहते अगर सभी संगठीत होकर इस पूरे आंदोलन को शांतिपूर्ण ठंग से मै-मेरा का भाव त्याग कर नि: स्वार्थ भाव से अगर सभी एक होकर शासन-प्रसाशन के कानों तक अपनी मांग रखकर मनवाने मे कामयाब हो गए,तो वास्तव मे एक बार भी वही उर्जा और उमंग जिले मे दौड़ने लगेगी,जिसकी कमी सभी को वर्तमान समय मे समझ आ रही है।
खुदरा व्यापारी संघ के सारणी पाथाखेड़ा क्षेत्र के अध्यक्ष सदाराम सूर्यवंशी ने कहा कि सारणी पाथाखेड़ा क्षेत्र को बचाने के लिए खुदरा व्यापारी संघ का भी इस आंदोलन को पूर्ण समर्थन है इस आंदोलन में हम सभी संघर्ष समिति के साथ हैं