सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए वाहन चालकों को जागरूक करें – कमिश्नर

Scn news india

कामता तिवारी
संभागीय ब्यूरो रीवा
Scn news india

  • सड़क सुरक्षा की संभागीय समिति की बैठक संपन्न
  • दुर्घटनाएं रोकने के लिए जिले में डिस्ट्रिक्ट सेफ्टी प्लान बनाएं – एडीजीपी

 

रीवा- कमिश्नर कार्यालय में सड़क सुरक्षा से संबंधित संभागीय समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में कमिश्नर अनिल सुचारी ने कहा कि पूरे संभाग में सड़क दुर्घटनाओं पर नियंत्रण के लिए कई तरह के उपाय आवश्यक हैं। सड़कों के निर्माण से जुड़े विभाग सड़कों में सुधार, घाटी में सुरक्षा दीवार बनाने तथा संकेतक लगाने एवं तीव्र मोड़ों को ठीक करने का प्रयास करें। वाहन चालकों के आंखों की नियमित जांच कराएं। यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करें। नियमित रूप से शिविर लगाकर वाहन चालकों को जागरूक करें। स्कूल तथा कालेज में भी यातायात जागरूकता शिविर आयोजित करें।

कमिश्नर ने कहा कि रीवा जिले में मोहनिया घाटी एवं छुहिया घाटी में सड़क में सुधार तथा सुरक्षा के अन्य प्रबंध तत्काल करें। छोटी सी लापरवाही से किसी की जान जा सकती है। सीधी से सिंगरौली हाइवे के निर्माण कार्य को शुरू कराने का प्रयास करें। सड़क खराब होने के कारण वाहन चालकों को परेशानी होने के साथ कई बार दुर्घटनाएं हुई हैं। सभी जिलों में सड़क सुरक्षा समिति की बैठक हर माह आयोजित करके लिए गए निर्णयों तथा उसमें की गई कार्यवाही का प्रतिवेदन संभागीय समिति को अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराएं।
बैठक में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक केपी व्यंकटेश्वर राव ने कहा कि हर जिले में दुर्घटनाएं रोकने के लिए डिस्ट्रिक्ट सेफ्टी प्लान बनाएं। परिवहन अधिकारी बसों के फिटनेस और प्रदूषण की नियमित जांच करें। जिन वाहन चालकों द्वारा लापरवाही पूर्वक वाहन चलाकर दुर्घटना को अंजाम दिया जाता है उनके लाइसेंस निरस्त करने की कार्यवाही करें। दुर्घटना रोकने तथा दुर्घटना पीड़ितों को तत्काल उपचार सहायता पहुंचाने वाले को पांच हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि देने का प्रावधान है। दुर्घटना के एक घंटे के अंदर पीड़ित को अस्पताल पहुंचाने पर यह राशि दी जाती है। इस योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार कराएं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी दुर्घटना में राहत और बचाव कार्य के लिए तैनात होने वाले पैरामेडिकल स्टाफ तथा अन्य विभाग के अधिकारियों को उचित प्रशिक्षण देने के लिए शिविर आयोजित करें।

बैठक में वाहनों तथा पालतू पशुओं के सींग में रेडियम स्टीकर लगाने, नगर निगम क्षेत्र में यातायात जागरूकता के होर्डिंग लगाने, चौराहों में सुधार तथा वाहन चालकों की स्वास्थ्य जांच के लिए शिविर लगाने का भी निर्णय लिया गया। कमिश्नर ने नगर निगम के अधिकारियों को शहर में सड़कों से अतिक्रमण हटाने तथा पार्किंग की उचित व्यवस्था के निर्देश दिए। बैठक में एमपीआरडीसी के प्रभारी अधिकारी एचएन गौतम ने बताया कि सभी टोल नाकों में दुर्घटना में सहायता के लिए एम्बुलेंस उपलब्ध हैं। हेल्पलाइन नम्बर 1099 पर सूचना देकर दुर्घटना के समय तत्काल सहायता प्राप्त की जा सकती है। बैठक में परिवहन अधिकारी मनीष त्रिपाठी, अधीक्षण यंत्री लोक निर्माण पीएन नायक, उप संचालक स्वास्थ्य डॉ डीपी अग्रवाल, उप संचालक सतीश निगम, अधीक्षण यंत्री नगर निगम शैलेन्द्र शुक्ला तथा अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

कामता तिवारी
संभागीय ब्यूरो रीवा
Scn news india