इग्नू में छात्र-छात्राएं ले सकते हैं एक साथ दो डिग्री, बदल सकते हैं परीक्षा केन्द्र

Scn news india

 संवाददाता सुनील यादव 

कटनी। इग्नू में किसी भी विषय से पढ़ाई करने के इच्छुक विद्यार्थियों के लिए सबसे बड़ी ये सुविधा है कि यहां सीट की कोई लिमिट नहीं है। कितने भी छात्र प्रवेश ले सकते हैं। साथ ही छात्र यदि अपना स्टडी सेंटर बदलना चाहता हैं तो देश में कहीं पर भी ट्रांसफर लेकर जा सकता है। उक्त जानकारी इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय की जिला समन्वयक डॉ. चित्रा प्रभात, अनीता पहारिया, ने इंडियन काफी हाउस में आयोजित पत्रकार वार्ता में दी। इग्नू ने जुलाई 2022 वोकेशनल स्टडीज में ग्रेजुएशन डिग्री बीएवीटी (एमएसएमई), बीएवीटी (पर्यटन एमजीएमटी) शुरू किए हैं। जो कि इस पाठ्यक्रम में अपनी तरह के पहले डिग्री कोर्स हैं। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति आधारित बीएजी (बीए जनरल), बीसीओएमजी (बीकॉम-जनरल), बीएससीजी (बीएससी-जनरल), बीएसडब्ल्यूजी और बीटीएसजी आनर्स जैसे डिग्री कोर्स भी इग्नू में उपलब्ध हैं। इनके अलावा एमबीए की डिग्री के साथ इसी सत्र से मार्केटिंग एचआर में विशेषज्ञता के साथ फाइनेंस, ऑपरेशंस, एमबीए और पीजी डिप्लोमा भी शुरू किए गए हैं। जो एआईसीटीई से मान्यता प्राप्त हैं। जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि तिलक महाविद्यालय में संचालित इग्नू सेंटर में 85 छात्र अध्ययनरत है। वही अनुसूचित जाति व जनजाति के छात्रों के लिए इग्नू में निशुल्क कोर्स उपलब्ध है। छात्रों के लिए 2000 हजार से अधिक इग्नू अध्ययन केंन्द्रों को खोला गया है। जहां निशुल्क स्थानांतरण की सुविधा है। ऑनलाइन 250 से अधिक कोर्स इग्नू संचालित कर रहा है।