अतिवृष्टि के दृष्टिगत सजग रहे मैदानी अमला बांधों, पुल-पुलियाओं पर सतत निगरानी रखी जाए-कलेक्टर

Scn news india

राजेश साबले जिला ब्यूरो 

बैतूल-कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस ने जिले में लगातार हो रही वर्षा के दृष्टिगत प्रशासनिक एवं मैदानी अमले को सजग रहने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जिले की समस्त पुल-पुलियाओं एवं बांधों पर सतत निगरानी रखी जाए। खासतौर पर पुराने बांधों की विशेष देखरेख की जरूरत है। यदि कहीं बसाहट खाली करवाने की जरूरत है, तो इसकी पूर्व से जानकारी रहे एवं समय रहते सुरक्षा पूर्वक बसाहट खाली करवा ली जाए।
सोमवार को आयोजित समयावधि पत्रों की समीक्षा बैठक में उन्होंने कहा कि जल संसाधन विभाग के बांधों एवं जलाशयों के अलावा ग्रामीण विकास विभाग द्वारा निर्मित तालाबों की भी सतत निगरानी की जरूरत है। जिले की सभी पुल-पुलियाओं पर एहतियाती सुरक्षा प्रबंध रहें। जहां आवश्यकता है वहां बेरिकेडिंग की जाए। साथ ही चौकीदार भी तैनात किए जाएं। दुर्घटना संभावित स्थानों पर पुलिस एवं होमगार्ड की तैनाती भी की जाए।
कलेक्टर ने कहा कि नगर पालिकाएं एवं ग्राम पंचायतें जीर्ण-शीर्ण भवनों की भी जानकारी रखें। साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि इनमें कोई व्यक्ति या परिवार निवास न करें। सरकारी जीर्ण-शीर्ण भवनों में भी कोई गतिविधियां संचालित न हो, इस बात का ध्यान रखा जाए। स्कूल, आंगनबाड़ी भवन यदि कमजोर हैं तो वैकल्पिक भवनों में संचालित की जाए।

मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग सजग रहे
———————————————————–
कलेक्टर ने कहा कि बरसात में मौसमी बीमारियों के फैलने की अतिरिक्त संभावना रहती है। इनकी रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग सजग रहे एवं प्रभावित मरीजों का तुरंत उचित उपचार सुनिश्चित किया जाए।

शुद्ध पेयजल की उपलब्धता रहे
——————————
उन्होंने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग एवं नगरीय निकाय के अधिकारियों को निर्देशित किया कि पेयजल स्त्रोतों का शुद्धिकरण सुनिश्चित करें। कहीं भी दूषित पेयजल की आपूर्ति न हो। जल स्त्रोतों का अभियान चलाकर क्लोरीनेशन किया जाए।

किसानों का फसल बीमा अवश्य कराया जाए
—————————————
कलेक्टर ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनांतर्गत ज्यादा से ज्यादा किसानों का पंजीयन कराया जाए। कृषि विभाग के अधिकारी किसानों से व्यक्तिगत संपर्क कर उनका फसल बीमा कराएं। कोई भी पात्र किसान फसल बीमा के पंजीयन से वंचित न रहे। फसल बीमा पंजीयन की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2022 है।
नुकसानी की स्थिति में राहत प्रकरण तत्परता से सुनिश्चित हो
———————————————————
कलेक्टर ने कहा कि अति वर्षा से नुकसानी की स्थिति में आरबीसी 6(4) के तहत तत्काल राहत प्रकरण स्वीकृत किए जाएं, ताकि प्रभावितों को समय पर सहायता मिल सके।
बिजली आपूर्ति नियमित रहे
————————–
कलेक्टर ने भारी वर्षा को देखते हुए विद्युत विभाग को भी सजग रहने के निर्देश दिए और कहा कि निर्बाध विद्युत आपूर्ति के विभाग द्वारा समुचित प्रबंध किए जाएं।

पशु चिकित्सा विभाग भी रहे सजग
————————————
उन्होंने पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारियों से भी कहा कि वे मैदानी अमले के पास आवश्यक दवाइयां रखना सुनिश्चित करें। पशुओं में यदि कोई रोग फैलता है तो तत्परता से उनका उपचार किया जाए।