खुलेगी खदाने, थर्मल पावर स्टेशन भी लगेगा -क्षेत्र को बंद करना विपक्षियों की सोची समझी साजिश -डॉ योगेश पंडाग्रे

Scn news india
ब्यूरो रिपोर्ट
सारनी।विद्युत नगरी सारनी में 660 मेगावाट की सुपरक्रिटिकल इकाई की स्थापना होगी,पाथाखेड़ा में भूमिगत कोयले की खदान खुलेगी सड़क के निर्माण एवं मोहने की निविदा निकाली जा चुकी है और औद्योगिक क्षेत्र सुखाढाना में उद्योग धंधे भी स्थापित होंगी यह बात आमला विधानसभा क्षेत्र के विधायक डॉ योगेश पंडाग्रे ने भारतीय जनता पार्टी के क्षेत्रीय कार्यालय सारनी में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा उन्होंने पत्रकार वार्ता में डब्ल्यूसीएल की भूमिगत खदानों का खोलना ताप विद्युत गृह सारनी में नई इकाइयों की स्थापना होने की बात दमखम के साथ रखने का काम किया साथ ही दस्तावेज भी पत्रकारों को दिखाते हुए बताया कि यह सब कार्य प्रोसेस में संचालित हो रहा है।लेकिन ताप विद्युत गृह सारनी में 660 मेगावाट की इकाई कब तक स्थापित होगी इसकी तिथि बताने में वह हिचकिचाते हुए दिखाई दिए,उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा है कि विद्युत नगरी सारनी में 660 मेगावाट की इकाई स्थापित करने के लिए वन विभाग पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से लगभग 13 तरह के अनापत्ति प्रमाण पत्र लेने का कार्य किया जाता है और वह सभी कार्य लगभग अंतिम चरण में पहुंच गए हैं। पत्रकारों को संबोधित करते हुए डॉ योगेश पंडाग्रे ने कहा कि 18 करोड़ों रुपए की लागत से डब्ल्यूसीएल की तवा और गांधीग्राम पहुंच मार्ग की निविदा निकाली जा चुकी थी लेकिन निविदा का मूल्य ज्यादा होने के कारण इसे दोबारा निकाला गया है। उन्होंने कहा कि कोयलांचल क्षेत्र पाथाखेड़ा की झुग्गी बस्तियों में बिजली पहुंचाने का कार्य भारतीय जनता पार्टी की सरकार में किया गया है उन्होंने यह भी बताया कि एक अरब दो करोड़ों रुपए की लागत से पानी पहुंचाने का कार्य भी किया जा रहा है प्रदेश के मुख्यमंत्री के माध्यम से क्षेत्र को लेकर चिंतित दिखाई दे रहे हैं जिस पर पत्रकारों ने डॉक्टर योगेश पंडाग्रे से पूछा कि प्रदेश सरकार के पास फंड उपलब्ध ना होने के कारण सारनी में इकाई स्थापित हो पाना मुश्किल दिखाई दे रहा है।इस पर उन्होंने कहा कि फंड की किसी भी तरह की कोई कमी नहीं है जल्दी ही क्षेत्र में वह सभी उद्योग धंधे स्थापित होंगे जो स्थापित होना चाहिए। पत्रकारों के माध्यम से क्षेत्र की घटती जनसंख्या और रोजगार के लिए पलायन के विषय में भी चर्चा की गई जिस पर डॉ योगेश पंडाग्रे ने कहा कि जो भी औद्योगिक क्षेत्र स्थापित किए जाते हैं वहां पर कर्मचारियों के सेवानिवृत्त होने का सिलसिला जारी रहता है जिसकी वजह से इस तरह की स्थिति निर्मित होती है इसके अलावा औद्योगिक क्षेत्र अब नॉनटेक्निकल के अलावा मशीनीकरण से लैस हो रही है।
तीन दिवसी हड़ताल विरोधियों की चाल
पत्रकारों के माध्यम से आमला विधानसभा क्षेत्र के विधायक डॉ योगेश पंडाग्रे से पूछा गया कि 3 दिनो की हड़ताल जो की जा रही है इस विषय को लेकर क्षेत्र के व्यापारियों को क्या संदेश देना चाहते हैं जिस पर उन्होंने कहा कि क्षेत्र के व्यापारियों की चिंता उन्हे हैं वह लगातार क्षेत्र में उद्योग धंधे स्थापित हो सके इसको लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री से मिलने का कार्य कर रहे हैं आने वाले 27 जुलाई को फिर मुख्यमंत्री से मुलाकात करेंगे उन्होंने कहा कि आगामी वर्ष में विधानसभा चुनाव है और इन चुनाव को देखते हुए श्रेयचंद लोगों के माध्यम से विकास के मुद्दों को लेकर क्षेत्र में बंद करने का कार्य किया जा रहा है, यह जो बंद करने का कार्य किया जा रहा है इसमें विरोधियों का ही महत्वपूर्ण योगदान होना बताया जा रहा है।
भारतीय जनता पार्टी के जिला महामंत्री कमलेश सिंह ने पत्रकारों को बताया कि क्षेत्र में जितने भी विकास के कार्य वर्तमान समय में संचालित करवाए जा रहे हैं उन सभी विकास कार्यों में लोग अनावश्यक रूप से आपत्ति लगाने का कार्य कर रहे हैं। उन्होंने प्रतिद्वंदी पार्टी का नाम लिए बताया कि मुख्यमंत्री को प्रतिद्वंदी पार्टी के माध्यम से गांधीग्राम और तवा खदान खोलने की मांग की गई और दूसरे दिन कलेक्टर को संयुक्त रूप से शिकायत की गई थी भूमिगत खदान की खोले जाने में आदिवासियों की भूमि का अधिग्रहण नहीं किया जाना चाहिए इस तरह के दोहरे चरित्र के शिकायतकर्ता की वजह से विकास के कार्यों में बाधा उत्पन्न हो रही है।उन्होंने बताया कि जल आवर्धन योजना के मामले में भी प्रधानमंत्री तक शिकायत की गई थी साथ ही औद्योगिक क्षेत्र सुखाढाना को विकसित किया जा रहा है और इस क्षेत्र को विकसित करने का कार्य लगभग पूरा हो गया है लेकिन इसकी शिकायत और आपत्ति करने का कार्य किया गया है इसलिए कई ऐसे महत्वपूर्ण मामले और मुद्दे हैं जिसे सार्वजनिक रूप से नहीं बताया जा सकता है यदि इन मुद्दों को बताने का कार्य किया जाएगा तो आपत्ति लगाने वाले लोग फिर एक बार विकास के कार्य में अवरुद्ध पहुंचाने का कार्य करेंगे जो क्षेत्र के लिए अच्छा नहीं होगा। पत्रकार वार्ता में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता पीजे शर्मा रंजीत सिंह कमलेश सिंह नागेन्द्र निगम,सुधा चंद्रा , नगरपालिका उपाध्यक्ष भीम बहादुर थापा, नेता प्रतिपक्ष संजय अग्रवाल, मंडल महामंत्री प्रकाश शिवहरे किशोर बरदे,दे सहित बड़ी संख्या में पत्रकार गण उपस्थित थे।