बारिश के बाद सतना के धारकुंडी आश्रम में आया सैलाब

Scn news india

दिवाकर पांडेय 

सतना। जिले में बुधवार शाम से अच्छी बारिश हो रही है। गुरुवार दोपहर 12 बजे तक बारिश थमी लेकिन फिर मूसलाधार बारिश से ग्रामीण क्षेत्र लबालब हो गए हैं। सतना मुख्यालय से लगभग 70 किलोमीटर दूर स्थित विंध्याचल पर्वत श्रंखला के बीच बने धारकुंडी आश्रम में बारिश के बाद सैलाब सा आ गया। यहां पूरा आश्रम पहाड़ों से आए एकाएक पानी से लबालब हो गया। धारकुंडी का झरना पूरी तरह बारिश के पानी में समा गया। जिसका वीडियो भी सामने आया है जिसमें आश्रम के अंदर और बाहर चारों तरफ सैलाब के रूप में पानी आता हुआ दिख रहा है। बताया जा रहा है कि बारिश के इस पानी के बाढ़ के रूप में आश्रम में प्रवेश करते ही पर्यटकों और आश्रम के अनुयायियों, साधु -संतों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया। जिसके कारण किसी को कोई हानि नहीं हो सकी।

धारकुंडी में दिखता है प्रकृति का सौंदर्य

सतना जिले से लगभग 70 किलोमीटर की दूरी पर मझगवां विकासखंड स्थित धारकुंडी आश्रम प्रकृति की मनोरम छटा के बीच है। यहां पहुंचने वाले पर्यटक और धर्मावलंबी अपने आप को स्वर्ग जैसे नजारे के बीच पाते हैं। विंध्याचल पर्वत श्रृंखलाओं में स्थित धारकुंडी में प्रकृति का एक अलग ही शानदार सौंदर्य देखने को मिलता है।

पर्वत की गुफाओं में साधना स्थल, दुर्लभ शैल चित्र, पहा़ड़ों से लगातार बहती जल की धारा, गहरी खाईयां और जीवाश्म भी यहां पाए जाते हैं। धारकुंडी आश्रम में प्रतिदिन हजारों की संख्या में पर्यटक और साधु-संत उनके भक्तगण पहुंचते हैं और भोजन प्राप्त करते है। यहां पहाड़ों के बीच बसे आश्रम के किनारे ही जलकुंड है जिसमें बहने वाली जलधारा की रफ्तार एक जैसी होती है।

गर्मी में चाहे जितना भी सूखा पड़ जाए, लेकिन धारकुंडी की धार हमेशा एक रफ्तार में बहती है। धारकुंडी आश्रम सरभंग मुनि आश्रम के पास है। जिसका वर्णन रामायण में मिलता है। पहाड़ों के बीच से निकलती जलधारा जो कि कुंड में आकर गिरती है इस कारण यहां का नाम धारकुंडी पड़ा है। यही जलधारा अब मूसलाधार बारिश के कारण लबालब होकर झरने के बड़े स्वरूप के साथ बह रही है जिसका पानी आश्रम में भी प्रवेश कर गया।

यहां भी भरा पानी

बुधवार शाम को सतना में बादलों ने जो झड़ी लगाई वह देर रात तक जारी रही। वहीं गुरुवार दोपहर से भी झमाझम बारिश जारी रही। इस बारिश से जिले के ग्रामीण क्षेत्र लबालब हो गए और लोगों के घरों में पानी भर गया। जिले के मझगवां विकासखंड के बिरसिंहपुर, जैतवारा, चित्रकूट में झमाझम बारिश हुई। इससे लोगों को गर्मी से राहत मिल गई। वहीं बिरसिंहपुर नगर में झमाझम बारिश के साथ 33 केवी बिजली लाइन फाल्ट हो गई जिससे कई घंटों तक बिजली व्यवस्था ठप हो गई। सतना शहर में भी बारिश से कई क्षेत्रों और कालोनियों में पानी भर गया और नाले-नालियों का पानी सड़क पर आ गया।