जिपं सीईओ अभिलाष मिश्रा ने एक वर्ष के कार्यकाल में ग्रामीण विकास, महिला सशक्तिकरण, जल संरक्षण की लिखी नई इबारत

Scn news india
राजेश साबले जिला ब्यूरो 
  •  भ्रष्टाचार पर कसी नकेल
  •  अधिरोपित वसूली के 50 लाख रुपए करवाएं जमा
  •  10 हजार शिकायतों का किया निराकरण
बैतूल। वर्ष 2017 बैच के डायरेक्ट आईएएस ऑफीसर अभिलाष मिश्रा ने बैतूल जिला पंचायत सीईओ की कमान संभालने के बाद अपनी प्रशासनिक क्षमता के दम पर शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं को जमीनी स्तर तक क्रियान्वयन करवाकर पात्र हितग्राहियों को लाीाान्वित करने की ठोस पहल की। साथ ही योजनाओं में भ्रष्टाचार कर हितग्राहियों के हक पर डाका डालने वालों को भी उन्होंने बक्षा नहीं। मोतीलाल नेहरू नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्रॉलाजी इलाहाबाद से बी.टेक. (मेकेनिकल) में पासआउट और वर्ष 2017 में यूपीएससी में देश भर में 5 वीं रेंक हासिल कर डायरेक्ट आईएएस ऑफीसर बने श्री मिश्रा ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत बैतूल के एक वर्ष के कार्यकाल में जहां जिले में ग्रामीण विकास, महिला सशक्तिकरण और जल संरक्षण के क्षेत्र में नई इबारत लिखी। साथ ही भ्रष्टाचार पर नकेल कसते हुए आर्थिक अनियमितता के दोषी अधिकारियों, कर्मचारियों, पंचायत प्रतिनिधियों के खिलाफ सख्त प्रशासनिक एवं वैधानिक कार्यवाही की गई। उन्होंने अनियमितता के प्रकरणों में अधिरोपित वसूली की 50 लाख रुपए से अधिक की राशि जमा करवाई।
103 अमृत सरोवर का निर्माण कर प्रदेश में अव्वल
केंद्र और राज्य सरकार की अति महत्वाकांक्षी अमृत सरोवर योजना के तहत बैतूल जिले में 103 अमृत सरोवरों का निर्माण रिकार्ड दो माह में पूरा किया गया। जिला पंचायत सीईओ श्री मिश्रा के सतत् मार्गदर्शन एवं मानीटरिंग के परिणाम स्वरूप अमृत सरोवर निर्माण में बैतूल प्रदेश में अव्वल है। बैतूल जिले के ग्रामीण इलाकों में मनरेगा से नवनिर्मित 103 अमृत सरोवरों में लगभग 30 लाख घन मीटर वर्षा जल संग्रहित करने का लक्ष्य रखा गया है जिससे लगभग 766 हेक्टेयर में सिंचाई प्रस्तावित है। साथ ही 65 अमृत सरोवरों को महिला स्व सहायता समूहों से जोड़कर सरोवर में संग्रहित पानी में मछली पालन एवं सिंघाड़ा उत्पादन किया जाएगा जिससे ग्रामीणों की आय बढ़ेगी।
ग्रामीण महिलाएं बन रही आत्मनिर्भर
बतौर जिला पंचायत सीईओ बैतूल के एक वर्ष के कार्यकाल में श्री मिश्रा ने महिला सशक्तिकरण एवं उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया। म.प्र. डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन अंतर्गत साढ़े नौ हजार से अधिक महिला स्वसहायता समूहों से सम्बद्ध लगभग 80 हजार महिलाएं एलपीजी गैस रिफलिंग, जैविक गुड़ व गुड़ के उत्पादन, फ्लाईएश ब्रिक्स इकाई, वाशिंक पाउडर, साबुन, रेडीमेट गारमेंट, अचार, टमाटो कैचप, हैंडीक्राप्ट, बांस शिल्प निर्माण, फूड प्रोसेसिंग सहित उद्यानिकी एवं कृषि और लघु उद्योगों के माध्यम से आर्थिक रूप से सशक्त और आत्मनिर्भर बन रही हैं। जलकर और संपत्तिकर वसूली में भी एसएसजी की महिलाओं ने उल्लेखनीय कार्य किए हैं।
गांव-गांव में जगाई स्वच्छता की अलख
बैतूल जिला पंचायत सीईओ की प्राथमिकताओं में स्वच्छ एवं प्लास्टिक मुक्त गांव भी शामिल रहा। उन्होंने गांव-गांव में स्वच्छता की अलख जगाने के लिए व्यापक पैमाने पर स्वच्छता एवं प्लास्टिक मुक्त अभियान चलाया। जिला पंचायत सीईओ के मार्गदर्शन में 27 मई 2022 को बैतूल जिले की 554 ग्राम पंचायतों के सभी 1319 ग्रामों में प्लास्टिक मुक्त अभियान चलाया गया। शासकीय अमले एवं समुदाय की सहभागिता से 1 दिन में 39 हजार 338 लोगों ने 10 क्विंटल प्लास्टिक एकत्रित किया गया। ग्रामों को प्लास्टिक मुक्त करने का संभवत: यह प्रदेश का सबसे बड़ा और अनूठा मामला था। तरल अशष्टि प्रबंधन समूचे म.प्र. में बैतूल एकमात्र जिला है जिसमें शासन द्वारा प्रदत्त लक्ष्य की शत प्रतिशत पूर्ति की गई जिसे राज्य स्तर पर सराहा गया है। वित्तीय वर्ष 2022 में बैतूल जिले में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत 4251 सामुदायिक सोकपिट, 9111 व्यक्तिगत सोकपिट, 1156 सामुदायिक नाडेप, 2462 व्यक्तिगत नाडेप, 180 सामुदायिक स्वच्छता परिसर, 7670 व्यक्तिगत शौचालय का निर्माण किया। साथ ही 154 ओडीएफ प्लस ग्राम बनाए।
10 हजार शिकायतों का किया निराकरण
बैतूल जिला पंचायत सीईओ अभिलाष मिश्रा ने आमजन की समस्याओं और शिकायतों के त्वरित निराकरण के लिए भी ठोस पहल की गई। जुलाई 2021 से जुलाई 2022 के एक वर्ष के कार्यकाल के दौरान मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में दर्ज लगभग 10 हजार शिकायतों का निराकरण किया गया। शिकायत निराकरण में जिला पंचायत बैतूल 5 बार म.प्र. में टॉप फाइव में रही। सीएम हेल्पलाइन में दर्ज शिकायत के निराकरण में उत्कृष्ट उपलब्धि पर जुलाई 2021, अगस्त 2021, सितम्बर 2021, फरवरी 2022 एवं मार्च 2022 में प्रमुख सचिव म.प्र. शासन पंचायत एवं ग्रामीण विकास उमाकांत उमराव द्वारा बैतूल जिला पंचायत सीईओ अभिलाष मिश्रा को प्रशंसा पत्र से नवाजकर सम्मानित किया।