धरती सेवकों ने उठाया पॉलिथीन : बोले धरती को करेंगे आजाद मेरे 75 कदम अभियान का हुआ समापन

Scn news india
राजेश साबले जिला ब्यूरो 
बैतूल। देश की आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने के बाद आजादी का अमृत महोत्सव पूरे देश में मनाया जा रहा है, लेकिन बैतूल के हेमंत चंद्र दुबे बबलू का यह मानना है कि हम आजादी के 75 वर्षों बाद भले ही अपनी चुनी हुई सरकार और अपने तिरंगे के नीचे उन्नति कर रहे हैं लेकिन उन्नति की इस दौड़ में हमने अपनी धरती को भुला दिया और उस पर पॉलिथीन का बोझ बढ़ा दिया है। एक तरह से 75 वर्षों में हमने धरती को पॉलिथीन का गुलाम बना दिया। इसी विचार से प्रेरित होकर उन्होंने मेरे 75 कदम अभियान की शुरुआत की। 1 मई मजदूर दिवस से प्रारंभ पॉलिथीन मुक्त बैतूल और कैंसर मुक्त बैतूल की परिकल्पना के साथ शुरू हुए अभियान के 15 जुलाई को 75 दिन पूरे हुए। जीरो बजट के इस कार्यक्रम में आम नागरिकों समाजसेवियों की मदद से प्रतिदिन सुबह 6:30 बजे से लेकर 7 बजे तक शहर के विभिन्न मार्गो पर पॉलिथीन की पन्नियां बीनने का कार्य सतत चलता रहा। समापन दिवस पर सैकड़ों नागरिक और समाजसेवी संस्थाओं ने सम्मिलित होकर इस अभियान में शिरकत की।
कार्यक्रम के प्रारंभ में सांसद दुर्गादास उइके, पूर्व सांसद हेमंत खंडेलवाल,भारत भारती के सचिव मोहन नगर अमरावती पीस फोरम के इरफान अथर अली, महाराष्ट्र कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता सलीम मीरावाला विशेष रूप से मौजूद रहे। कार्यक्रम के समापन स्थल गांधी प्रतिमा पर धरती सेवकों द्वारा पॉलिथीन एकत्रीकरण किया गया इसके पश्चात महात्मा गांधी प्रतिमा पर माल्यार्पण तथा नमन कर अभियान का समापन किया गया।
आगे बढ़ेगा 75 कदम अभियान
कार्यक्रम में जिले की 75 संस्थाओं को निमंत्रित किया गया था। अभियान से जुड़े धरती सेवक रमेश भाटिया ने कहा कि इन 75 दिनों में मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा, चर्च, शैक्षणिक संस्थान, शासकीय संस्थान, बाजार सभी जगह पॉलिथीन मुक्त कैंसर मुक्त बेतूल अभियान चलाया गया। अभियान में सभी धर्मावलंबियों द्वारा एकजुट होकर बढ़-चढक़र हिस्सा लिया । भविष्य में भी बैतूल को पॉलिथीन मुक्त कैंसर मुक्त करने के लिए अभियान जारी रहेगा। शीघ्र ही 75 कदम अभियान के धरती सेवकों द्वारा इस अभियान को आगे बढ़ाने पर योजना बनाई जाएगी। श्री भाटिया ने अभियान में सहयोग के लिए सभी का आभार माना है।