सारनी बचाओ संघर्ष समिति की निर्णायक बैठक सम्पन 21-22-23 जुलाई को सम्पूर्ण नगर पालिका क्षेत्र के प्रतिष्ठान रहेंगे बंद

Scn news india

ब्यूरो रिपोर्ट

सारनी। पाथाखेड़ा-सारनी-शोभापुर-बगडोना उजड़ते क्षेत्र को बचाने सारनी में अहम बैठक आहूत की गई। बैठक में सारनी संघर्ष समिति के पदाधिकारी और व्यापारियों ने 21-22-23 जुलाई 22 को नगर पालिका क्षेत्र की दुकानें बंद करने का निर्णय लिया है। क्षेत्र बंद करने का निर्णय की सूचना, कलेक्टर,एसडीएम,तहसीलदार और थाना प्रभारी को दी जाएगी।
21 जुलाई को बगडोना के स्वागत द्वार में शांति पूर्ण आंदोलन किया जाएगा। 22 जुलाई को सतपुडा पावर प्लांट के गेट क्रमांक 7 पर आंदोलन किया जाएगा। वहीं 21-22 के आंदोलन पर बात नहीं बनती है तो 23 जुलाई को घोड़ाडोंगरी में रेल रोको आंदोलन किया जाएगा। गौरतलब रहे कि उजड़ते क्षेत्र को बचाने सारनी बचाओ संघर्ष समिति को , व्यापारी संघ बैतूल, व्यापारी संघ आमला व्यापारी संघ,घोड़ाडोंगरी का लिखित समर्थन मिला है। सारनी बचाओ संघर्ष समिति द्वारा 14 जुलाई को आहत की गई इस बैठक में आंदोलन को ,,जन आंदोलन बनाने का निर्णय सर्व सम्मति से लिया गया है।

गौरतलब रहे कि पूर्व में संघर्ष समिति की बैठक 25 को रखी गई थी जिसमे 19-20-21 जुलाई को क्षेत्र की सम्पूर्ण दुकाने बंद करने का निर्णय लिया गया था।लेकिन चुनावी आदर्श आचार सहिंता बढ़ने की वजह से क्षेत्र को बचाने बंद का किया गया आगाज को आगे बढ़ाया गया । 15 जुलाई से संघर्ष समिति के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं द्वारा श्रमिक संगठनों के साथ घर-घर जाकर उजड़ते क्षेत्र को बचाने जन आंदोलन के लिए सहयोग मांगा जाएगा।
बैठक में सारनी में बिजली इकाई लगाने की घोषणा पहले की गई थी लेकिन ,यहां की वजह चचाई में लगाने की घोषणा कर दी गई।
। सनद रहे कि सारनी बचाओ संघर्ष समिति द्वारा लिया गया निर्णय गैर राजनीतिक है। बैठक में उपस्थित व्यापारियों द्वारा उल्लेख किया गया कि नगर पालिका क्षेत्र में कारोबार पूरी तरह तबाह हो चुका है। इसकी वजह है क्षेत्र में बिजली इकाई और कोयला खदान का लगातार बंद होने से लोग यहां से पलायन करते जा रहे हैं। वर्तमान समय सारनी-पाथाखेड़ा- बगडोना-शोभापुर से मजदूर रोजगार की तलाश में बहार जा रहे हैं। एक समय था हर राज्य के लोग रोजगार के लिए औद्योगिक क्षेत्र में आते थे,लेकिन आज यह क्षेत्र अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है।


बैठक में मोदी,संघर्ष समिति के संघ के अध्यक्ष अरविंद सोनी, सांसद प्रतिनिधि, भाजपा नेता जगन्नाथ डेहरिया स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डॉ. कृष्णा मोदी,
व्यापारी संघ के पूर्व अध्यक्ष व भाजपा नेता बिट्टू सरदार, सुनील भारद्वाज,समाज सेवी डॉ मनोज कुमार,समिति के पदाधिकारी तिरुपति एरुल, कामरेट रामा वाईकर, मो.इल्यास,सीएम बेले ,कुनबी समाज के नगर अध्यक्ष माणिक धोटे, प्रचार सचिव विजय पडलक,
ट्रांसपोर्ट एशोषियेशन के अध्यक्षक प्रभु मसदकर, बगडोना व्यापारी संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी, बबलू रधुवंशी, मिथलेश रघुवंशी, हिमांशु फाटे,देवेन्द गुप्ता,मेकेश बतरा, वरिष्ठ व्यापारी विनोद साहू,ठेकेदार संघ के अन्नू सातनकर टेंट एशोषियेशन के दिलीप बारस्कर, पार्षद पति मुकेश यादव,पार्षद शांति पल, दिनेश बाथम,गौतम बोधले
जनता यूनियन के अध्यक्षक मोतीराम जवने,,बोधविहार समिति के बलवंत पाटिल, गुरुद्वारा सिंह सभा के जगदीश आहूजा,समीम रिजवी, फेडरेशन के सचिव किशोर चौहान,पोस्ट कार्ड अभियान के पदाधिकारी अशोक पचौरी, सहित सेकड़ो व्यापारी मौजूद थे।