बैतूल पहुँचे MBA चायवाला, युवाओं को दिए बिजनेस टिप्स,हाथ ठेले पर की थी चाय की दुकान की शुरुआत, अब सालाना 20 करोड़ का टर्नओवर

Scn news india


राजेश साबले जिला ब्यूरो 

बैतूल। अहमदाबाद में महज 8 हजार की लागत से अपना चाय का ठेला शुरू करने वाले युवक का आज सालाना 20 करोड़ का कारोबार है। चाय की दुकान एमबीए चायवाला के नाम से रखी क्योंकि वह MBA करना चाहता था और कर नहीं पाया। वैसे यहाँ MBA का मतलब मिस्टर बिल्लोरे अहमदाबाद से है और इस होनहार युवक का नाम है प्रफुल्ल बिल्लोरे। आज अपने मित्र आदर्श जैन के परिवार से मिलने प्रफुल्ल अल्प प्रवास पर बैतूल पहुंचे। इस बीच कुछ युवाओं को उनके प्रवास की सूचना मिली और उन्होंने प्रफुल्ल से सफल बिजनेस के लिये मार्गदर्शन लिया।

नाम है प्रफुल्ल बिल्लौरे (prafull billore) मगर जाने जाते हैं ‘MBA चायवाला’ के नाम से। 25 साल के इन नौजवान के चाय का धंधा इतना चला कि टर्नओवर करोड़ों का हो गया। 20 साल की उम्र में MBA की तैयारी करने घर से निकले प्रफुल्ल बिल्लोर को भी पता नहीं था कि यही MBA शब्द एक दिन उन्हें दुनियाभर में मशहूर बना देगा। इंदौर (indore) से अहमदाबाद (Ahmedabad) पहुंचे प्रफुल्ल का सपना IIM में एडमिशन पाना और शानदार पैकेज पर जॉब हासिल करना था, लेकिन जब MBA में सफलता नहीं मिला तो प्रफुल्ल ने चाय का ठेला लगाने का सोचा और नाम रखा ‘MBA चायवाला’..जो आज यंगस्टर्स के बीच ब्रांड बन चुका है।

धार (DHAR) के एक छोटे से गांव लबरावदा के किसान परिवार के प्रफुल्ल बिल्लौरे IIM अहमदाबाद से MBA करना चाहते थे, लेकिन जब सक्सेस हाथ नहीं लगी तो दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों की ओर रुख ककिया लेकिन दिल लगा तो अहमदाबाद में। प्रफुल्ल को अहमदाबाद शहर इतना पसंद आया कि वो वहीं बसने की सोचने लगे। अब रहने के लिए पैसे चाहिए और पैसे के लिए कुछ न कुछ तो करना ही पड़ेगा, यही सोचकर प्रफुल्ल ने अहमदाबाद में मैकडॉनल्ड में वेटर की नौकरी कर ली। यहां प्रफुल्ल को 37 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से पैसे मिलते थे और वह दिन में करीब 12 घंटे काम करते थे।

MBA चाय वाला’ मतलब ‘मिस्टर बिल्लौरे अहमदाबाद‘

चाय का काम अच्छा चलने लगा नेटवर्क अच्छे बन गए तो प्रफुल्ल ने सोचा क्यों ना अब दुकान का कोई एक अच्छा सा नाम रख लें, जिससे और अच्छी मार्केटिंग हो। लगभग 400 नाम सेलेक्ट करने के बाद एक नाम फाइनल किया, जो था ‘मिस्टर बिल्लोरे अहमदाबाद’ जिसका शॉर्ट नाम ‘MBA चाय वाला’ पड़ा। शुरुआत में लोग उन पर खूब हंसते, मजाक बनाते लेकिन धीरे-धीरे लोगों को प्रफुल्ल का आइडिया पसंद आने लगा।

20 करोड़ का टर्नओवर

‘MBA चाय वाला’ धीरे-धीरे फेमस हो गया। अब लोकल इवेंट, म्यूजिकल नाइट, बुक एक्सचेंज प्रोग्राम, वुमन एम्पावरमेंट, सोशल कॉज, ब्लड डोनेशन जैसी हर जगह ‘MBA चाय वाला’ दिखाई देता। प्रफुल्ल ने वेलेंटाइन के दिन ‘सिंगल के लिए मुफ्त चाय’ दी, जो वायरल हो गई और वहां से उनको और भी ज्यादा पॉपुलेरिटी मिली। अब उन्हें और भी बड़े ऑर्डर मिलने लगे। आज ‘MBA चाय वाला’ नेशनल और इंटरनेशनल इवेंट करते हैं। प्रफुल्ल ने 300 स्क्वायर फीट में अपना कैफे खोला और पूरे भारत में फ्रेंचाइजी दी। एक वक्त जिन MBA संस्थानों में जाकर पढ़ाई करना प्रफुल्ल बिल्लोरे का सपना था। आज वही संस्थान प्रफुल्ल को अपने यहां बतौर मैनेजमेंट गुरू लेक्चर देने के लिए बुलाते हैं। महज 25 साल की उम्र में उनका नेटवर्थ सालाना 20 करोड़ का है। आज देश के करीब 100 शहरों में और लंदन में भी ‘MBA चायवाला’ के नाम से उसके आउटलेट हैं। बाकी के देशों में भी फ्रेंचाइजी पर बात चल रही है।