आदर्श धनोरा बना मिसाल

Scn news india

राजेश साबले जिला ब्यूरो  

बैतूल । त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में बैतूल का एक गाँव मिसाल बनकर सामने आया है । भीमपुर जनपद क्षेत्र का ये गाँव कभी चुनाव के लिहाज से अतिसंवेदनशील माना जाता था लेकिन अब इसी गाँव का मतदान केंद्र आदर्श मतदान केंद्रों में गिने जाता है । आज त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में मिसाल पेश कर रहा है बैतूल का ग्राम आदर्श धनोरा । जैसा इस गांव का नाम है वैसे ही यहां के मतदाता भी हैं । मतदान के पहले ही गाँव के लोगों ने अपना सरपंच और सभी पंचों को निर्विरोध चुन लिया । वहीं अन्य सभी पदों पर मतदान के लिए पूरे गाँव ने जागरूकता दिखाते हुए बढ़ चढ़कर मतदान किया । इस गाँव के जिस मतदान केंद्र को कभी संवेदनशील मानकर कड़ी सुरक्षा लगाई जाती थी वहां अब नाममात्र के लिए सुरक्षा व्यवस्था की जरूरत पड़ रही है ।
केंद्र के बीएलओ इंद्रजीत सिंह कश्यप के मुताबिक मतदान केंद्र बिना किसी ठोस वजह के हमारे गांव को अतिसंवेदन शील केंद्र घोषित कर दिया था चूंकि हमारे गांव के नाम के आगे आदर्श लगा हुआ है जब से मैं बीएलओ बना मैन प्रशासन के साथ मिलकर इसे पुनः प्रयास किया है हमारी कोशिश थी कि हम अपने मतदान केंद्रों को विवाह मंडप की तरह सजाया है । मतदाताओं के लिए कार्पेट बिछाए गए है और बारिश से बचाव के लिए वाटरप्रूफ टेंट लगाए गए । बाकी दिव्यांग जनों और बुजुर्गों के लिए भी सारी सुविधाएं इस मतदान केंद्र पर मिली । केंद्र के श्री कश्यप के मुताबिक आदर्श धनोरा के इस मतदान केंद्र से अतिसंवेदनशील होने का धब्बा मिटाने के लिए हर वो प्रयास किये गए जिससे शांत और सुरक्षित माहौल में मतदान हो सके साथ ही मतदाताओं का उत्साह बना रहे । प्रशासन ने भी इस मतदान केंद्र की काफी सराहना की है वहीं मतदाता यहां पूरे जोश और उत्साह से मतदान करते दिखे । निर्विरोध चुनी गई सरपंच हिरन्ति धुर्वे कहती है कि हमारे गांव में सभी की सलाह मशविरा के बाद मुझे सरपंच ओर 16 पंचों को चुना गया है ।मैं बेहद खुश हूँ कि मुझे मेरे पुरखो की ज़िम्मेदारी मिली है मैं अपने क्षेत्र में सम्पूर्ण विकास के लिए खूब मेहनत करूंगी ।
ग्रामीण विकल सिंह भी मानते है कि मतदान के लिए इस वर्ष बहुत अच्छी व्यवस्था की है यह पहला मौका है कि मतदाता के लिए कार्पेट बिछाया गया है और मतदाताओ की सुख सुविधा का पूरा ख्याल रखा गया है ।