जारी रहेगा रिमझिम फुहारों का दौर, वातावरण में घुली ठंडक

Scn news india
मनोहर
वातावरण में नमी होने के कारण बादल बने हुए हैं। शुक्रवार को दिनभर बादल मौजूद रहने की संभावना है। दोपहर बाद पड़ सकती हैं फुहारें।
भोपाल । अलग-अलग स्थानों पर सक्रिय मानसून प्रणालियों के असर से मध्य प्रदेश में रुक-रुककर वर्षा का सिलसिला जारी है। विशेषकर मानसून ट्रफ के मप्र से होकर गुजरने से वातावरण में काफी नमी मौजूद है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक शुक्रवार को राजधानी में सुबह हल्की बौछारें पड़ीं। इससे वातावरण में ठंडक घुल गई है। दोपहर के बाद भी वर्षा होने की संभावना है। भोपाल के अलावा इंदौर, उज्जैन, सागर, जबलपुर, नर्मदापुरम संभागों के जिलों में कहीं-कहीं तेज बौछारें भी पड़ सकती हैं।
मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को राजधानी का न्यूनतम तापमान 25.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। साथ ही यह गुरूवार के न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस से 1.2 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। गुरूवार को शहर का अधिकतम तापमान 28.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया था, जो सामान्य से चार डिग्री सेल्सियस कम था। यह बुधवार के अधिकतम तापमान 32.1 डिग्री सेल्सियस की तुलना में 3.6 डिग्री सेल्सियस कम रहा।
वरिष्ठ मौसम विज्ञानी ममता यादव ने बताया कि अलग–अलग स्थानों पर बनी मौसम प्रणालियों के असर से राजधानी सहित प्रदेश के अधिकतर जिलों में रुक–रुककर वर्षा हो रही है। वातावरण में नमी होने के कारण बादल बने हुए हैं। शुक्रवार को दिनभर बादल मौजूद रहने की संभावना है। इससे अधिकतम तापमान 28-29 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना रहने की संभावना है। रुक-रुककर फुहारें पड़ने का सिलसिला जारी रहेगा।
यह मौसम प्रणालियां हैं सक्रिय
मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक वर्तमान में दक्षिणी पाकिस्तान के आसपास निम्न दाब क्षेत्र बना हुआ है। है। इससे लेकर मानसून ट्रफ अहमदाबाद, गुना, जबलपुर, पेन्ड्रा रोड और झारसुगड़ा-गोपालपुर से होते हुए पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी तक बना हुआ है। वहीं बंगाल की खाड़ी में ओडिशा-आंध्र प्रदेश के तट के पास हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात मौजूद है। दक्षिणी महाराष्ट्र से उत्तरी केरल तट के समानांतर अपतटीय ट्रफ बना है। इन मौसम प्रणालियों के कारण राजधानी सहित प्रदेश के अधिकतर जिलों में रुक-रुककर वर्षा हो रही है। शुक्रवार को भी दोपहर के बाद गरज-चमक के साथ तेज बौछारें पड़ने की संभावना है।
जानिए मप्र के मौसम का पूर्वानुमान
MP Weather: जमकर बरसेंगे बदरा, कई सिस्टम एक्टिव, 15 जिलों में गरज चमक के साथ भारी बारिश का अलर्ट, जानें अपने शहर का हाल
शुक्रवार–शनिवार काे इंदौर, उज्जैन, नर्मदापुरम, भाेपाल, जबलपुर, शहडाेल एवं भाेपाल संभागाें के जिलाें में गरज–चमक के साथ बारिश हाेने के आसार हैं।
भोपाल। एक साथ कई सिस्टम एक्टिव होने से मानसून की गतिविधियों में तेजी आई है।विशेषकर मानसून ट्रफ के मप्र से होकर गुजरने से वातावरण में नमी बढ़ रही है, जिसके चलते बारिश का दौर जारी है। एमपी मौसम विभाग (MP Weather Department) ने आज शुक्रवार 8 जुलाई 2022 को 15 जिलों में भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है। वही 7 संभागों में बिजली गिरने और चमकने को लेकर भी चेतावनी जारी की गई है।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, आज शुक्रवार 8 जुलाई 2022 को नर्मदापुरम संभाग के साथ छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट, मंडला, बुरहानपुर, खंडवा, बड़वानी, अलीराजपुर, झाबुआ, रतलाम, देवास और मंदसौर जिलों में येलो अलर्ट जारी किया गया है। वही भोपाल, नर्मदापुरम, इंदौर, उज्जैन, जबलपुर और शहडोल संभागों में गरज चमक के साथ बिजली गिरने और चमकने की चेतावनी जारी की गई है।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, वर्तमान में दक्षिणी पाकिस्तान के आसपास सुस्पष्ट निम्न दाब क्षेत्र समुद्र तल से 5.8 किमी की ऊँचाई तक फैले संयुग्मित चक्रवातीय परिसंचरण के साथ दक्षिण-पश्चिम की ओर झुकते हुए सक्रिय है। इससे लेकर मॉनसून ट्रफ अहमदाबाद, गुना, जबलपुर, पेन्ड्रा रोड और झारसुगड़ा-गोपालपुर से होते हुए पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी तक विस्तृत है। वहीं पश्चिमोत्तर बंगाल की खाड़ी में ओड़ीशा-आंध्र प्रदेश के तट के पास चक्रवातीय परिसंचरण समुद्र तल से 7.6 किमी की ऊँचाई तक सक्रिय है। जबकि दक्षिणी महाराष्ट्र से उत्तरी केरल तट के समांतर अपतटीय ट्रफ विस्तृत है। साथ ही 19 डिग्री उत्तर अक्षांश के सहारे पठारी क्षेत्र के उत्तरी हिस्से में मध्य क्षोभमंडल स्तर पर विरूपक हवाएँ सक्रिय हैं।
एमपी मौसम विभाग के अनुसार, 8 जुलाई को नया कम दबाव का क्षेत्र विकसित हो रहा है, ऐसे में भोपल, ग्वालियर, इंदौर और जबलपुर समेत कई जिलों में 9-10 जुलाई को बारिश के आसार हैं। अरब सागर व बंगाल की खाड़ी की नमी के चलते इंदौर में अगले तीन दिन अच्छी वर्षा होने की संभावना है।शुक्रवार–शनिवार काे इंदौर, उज्जैन, नर्मदापुरम, भाेपाल, जबलपुर, शहडाेल एवं भाेपाल संभागाें के जिलाें में गरज–चमक के साथ बारिश हाेने के आसार हैं।
पिछले 24 घंटे का बारिश का रिकॉर्ड
पिछले 24 घंटे में सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक गुना में 30, छिंदवाड़ा में 18, जबलपुर में 10, नर्मदापुरम में चार, पचमढ़ी में चार, भाेपाल में 2.3, धार में 0.4, इंदौर में 0.1 मिलीमीटर वर्षा हुई।