बैतूल में मतदान के दौरान हंगामा: कांग्रेस विधायक निलय डागा धरने पर बैठे, गड़बड़ी और वोटरों को धमकाने का आरोप

Scn news india

राजेश साबले जिला ब्यूरो 

बैतूल में नगरीय निकाय चुनाव को लेकर हो रही वोटिंग के दौरान हंगामा हो गया। बैतूल विधायक निलय डागा कांग्रेस प्रत्‍याशी को मतदान केन्‍द्र में नहीं जाने देने पर पुलिस पर बिफर गए। उन्‍होंने बैतूल के 50 मतदान केन्‍द्रों पर गड़गड़ी किए जाने के साथ वोटरों को डराने-धमकाने का भी आरोप लगाया है।इस दौरान विधायक और पुलिस के बीच बहस भी हुई। नाराज विधायक निलय डागा कार्यकर्ताओं के साथ मतदान केन्‍द्र के सामने ही धरने पर बैठ गए।

इस संबंध में बताया गया कि किदवई वार्ड और जाकिर हुसैन वार्ड में कांग्रेस प्रत्याशियों सहित मतदाताओं के साथ पक्षपातपूर्ण व्‍यवहार किए जाने की सूचना कांग्रेस विधायक निलय डागा को मिली। इस पर वे तत्‍काल मतदान केन्‍द्र पर पहुंचे और गाड़ी से उतरते ही पुलिस अधिकारियों पर बिफर गए।

बैतूल विधायक निलय डागा ने आरोप लगाया कि बीजेपी को अपनी हार दिख रही है। पुलिस की मदद लेकर वोटरों को डराया-धमकाया जा रहा है। पोलिंग एजेंटों को खाने के पैकेट तक नहीं पहुंचाने दिये जा रहे है। अभ्यर्थियों को मतदान केंद्र के अंदर नहीं जाने दिया जा रहा है। शहर के 50 मतदान केंद्रों पर गड़बड़ी हो रही है। निष्पक्ष चुनाव हो नहीं रहे हैं । इस दौरान विधायक निलय डागा और पुलिस अधिकारियों के बीच बहस भी हो गई। विधायक ने आरोप लगाया कि जाकिर हुसैन वार्ड में कांग्रेस प्रत्याशी मतदान केंद्र में अंदर जा रहा था लेकिन उसे पुलिसकर्मियों द्वारा अंदर जाने से मना कर दिया। उन्होंने कहा कि इस तरह से चुनाव पक्षपातपूर्ण कराने को लेकर बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके बाद नाराज विधायक गुस्से में मतदान केंद्र के सामने कांग्रेसियों के साथ बैठ गए। इसके अलावा किदवई वार्ड में भी कांग्रेस प्रत्याशी को मतदान केंद्र के भीतर पुलिसकर्मियों द्वारा रोक जाने से गुस्साए विधायक निलय डागा किदवई वार्ड पहुंचे और उन्होंने पुलिस अधिकारियों को जमकर खरी-खोटी सुनाई। विधायक निलय डागा ने कहा कि शहर के आधा सैकड़ा मतदान केंद्रों पर पक्षपात पूर्ण व्यवहार कर गड़बड़ी की जा रही है। इसकी शिकायत निर्वाचन आयोग को की जाएगी।

इस संबंध में गंज थाना टीआई अनुराग प्रकाश ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि कांग्रेस प्रत्याशी किसी अन्य व्यक्ति के साथ मतदान केंद्र में जा रहे थे। पुलिस कर्मियों ने सिर्फ साथ जा रहे लोगों को रोका था ना कि कांग्रेस प्रत्याशी को रोका गया था। विधायक द्वारा जो आरोप लगाए जा रहे हैं। ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है। चुनाव पूरी तरह से निष्पक्ष की संपन्न हो रहे हैं।