विद्युत मंडल के कर्मचारियों के आवासों का बड़े स्तर पर कराया जाए रिनोवेशन-अभियंता संघ

Scn news india

ब्यूरो रिपोर्ट
मध्यप्रदेश विद्युत मण्डल अभियंता संघ के विकास कुमार शुक्ला ने ऊर्जा विभाग विभाग के मुख्यालय शक्ति भवन जबलपुर पत्र लिखकर मांग की है कि समस्त उत्तरबर्ती कम्पनियों में कार्यरत अधिकारी एवं कर्मचारी प्रदेश के विद्युत क्षेत्रों में अपनी सेवायें निर्बाध रूप से प्रदान कर रहे हैं, जिसका परिणाम है की मध्य प्रदेश में जहाँ एक ओर नए कार्यालय खोले जा रहे हैं वहीं उसी अनुपात में आवास निर्माण नहीं किये जा रहे हैं एवं पूर्व में विकसित कॉलोनियों में मरम्मत कार्य न के बराबर हैं, उनकी हालत रहने योग्य कतई नहीं बची हैं; उदाहरणार्थ: सारणी, चचाई, बिरसिंघपुर, की कोलॉनी जहाँ बहुतायत में कर्मी रहते हैं, मकान जर्जर स्थिति में हैं । ऐसे आवासीय परिसरों में किसी दिन अप्रिय घटना घटने की संभावना को नाकारा नहीं जा सकता ।


जबलपुर जहां विद्युत कंपनियों का मुख्यालय हैं वहां भी आवास परिसर की स्थिति ठीक नहीं हैं, चूँकि कई दशकों से कालोनी में कर्मियों के लिए कोई भी नए भवन का निर्माण नहीं किया गया हैं एवं ना ही गृह भाडा भत्ता सातवे वेतन आयोग के अनुसार वृद्धि किया गया हैं । जिससे कर्मी अपने व् अपने परिवार की सुरक्षा हेतु, वर्तमान गृह भाडा भत्ता के तीन से चार गुना दर पर दूर-दरस्त स्थानों में किराये से रहने को मजबूर हैं ।

इनका कहना है 

ज़्यादातर आवासों के जीर्ण-हीन हालत होने के कारण आए दिन छत का प्लास्टर गिरना, छज्जे का प्लास्टर गिरना, कमरों के ऊपर का प्लासटर गिरना आम बात हो गई है
अभियंता संघ प्रबंधन से मांग करता है कि समय रहते संपूर्ण पावर स्टेशनों की आवासी कॉलोनी बड़े स्तर पर रिनोवेशन किया जाना अत्यंत आवश्यक है
Er. Garima Singh) सह संयोजक प्रचार मध्यप्रदेश विद्युत मण्डल अभियंता