पत्नी और बेटे के सामने हुई पिता की जल समाधि

Scn news india

राजेश साबले जिला ब्यूरो 

सरोवर में नहाने से मना कर रही थी पत्नी पर नहीं माना पति, पत्नी और पुत्र का रो-रोककर हो रहा है बुरा हाल, शव निकाला बाहर

ताप्ती सरोवर पर पूजा अर्चना करने के साथ परिवार सहित पहुंचा एक युवक को उसकी पत्नी बार-बार ताप्ती सरोवर में नहाने से मना कर रही थी लेकिन पति नहीं माना और सरोवर में नहाने लगा। इसी दौरान गहरे पानी में चले जाने से पत्नी और पुत्र के सामने उसकी जल समाधि हो गई। पत्नी और बेटे का रो-रोककर बुरा हाल हो रहा है। डायल 100 की मदद से शव को सरोवर से बाहर निकाला गया है। पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना प्रारंभ कर दी है।

पत्नी ने गहरे पानी में जाने से किया था मना

प्राप्त जानकारी के अनुसार धनराज साकरे 40 साल अपनी पत्नी बाया बाई साकरे और बेटे भावेश साकरे सभी निवासी जावरा थाना सांईखेड़ा के साथ ताप्ती स्नान करने के लिए ताप्ती सरोवर पर सोमवार सुबह पहुंचे थे। इस दौरान धनराज साकरे को गहरे पानी में जाने से बार-बार उसकी पत्नी बाया बाई मना करते रही लेकिन धनराज नहीं माना और वह गहरे पानी में चला गया। धनराज को डूबने से बचाने के लिए पत्नी ने भरसक प्रयास किया लेकिन वह सफल नहीं हो पाई जिससे उसकी डूबने से पत्नी और बेटे के सामने ही मौत हो गई।

पूजा करने के लिए आए थे परिवार सहित

बाया बाई साकरे ने बताया कि वह परिवार सहित ताप्ती जी की पूजा अर्चना करने के लिए सरोवर पर आए थे। बायाबाई ने बताया कि उन्होंने बार-बार मना किया था कि सीढी के पास ही कम पानी में बैठकर नहा लो लेकिन मेरी बात नहीं मानी। अगर भावेश के पिता मेरी बात मान लेते तो आज वह जिंदा रहते। पत्नी बाया बाई सहित पुत्र भावेश का रो-रोककर बुरा हाल हो गया है। उन्होंने कहा कि पूजा करने आए थे और यह हादसा हो गया।

डायल 100 ने निकाला सरोवर से शव

प्राप्त जानकारी के अनुसार डायल 100 को सूचना मिली थी कि पौने 11 बजे के करीब एक युवक सरोवर में डूब गया है। सूचना मिलते ही डायल 100 के पायलट पंकज डहारे सैनिक बलवंत शाह, नाव वाले की मदद से युवक की तलाश की और उसे बाहर निकाला। पुलिस ने सूचना मिलने पर मर्ग कायम कर शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।